Home Breaking तीसरा राज्य स्तरीय पशुधन प्रदर्शनी मेला झज्जर में होगा आयोजित, विभिन्न प्रजातियों के लगभग 1500 पशु होंगे सम्मिलित

तीसरा राज्य स्तरीय पशुधन प्रदर्शनी मेला झज्जर में होगा आयोजित, विभिन्न प्रजातियों के लगभग 1500 पशु होंगे सम्मिलित

0
0Shares

Yuva Haryana

Jhajjar, 19 Dec, 2018

हरियाणा में तीसरा राज्य स्तरीय पशुधन प्रदर्शनी मेला झज्जर जिले में 21 से 23 दिसंबर 2018 तक आयोजित किया जाएगा। इस मेले में लगभग 750 करोड़ रुपये के उत्तम नस्ल के विभिन्न प्रजातियों के लगभग 1500 पशु सम्मिलित होंगे। यह जानकारी आज हरियाणा के कृषि, पशुपालन एवं डेयरी मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने दी।

उन्होंने कहा कि इस मेले में 12 पशु प्रजातियों की 53 केटेगरी के उत्कृष्ट पशुओं जिनमें सर्वश्रेष्ठ भैंसे, गाय, घोड़े, ऊंट, भेड़, बकरियां शामिल हैं। का प्रदर्शन किया जाएगा। मेले में सर्वश्रेष्ठ पशु को 2 लाख 50 हजार रुपये का पुरस्कार के अलावा रनरअप को 1 लाख रुपये और अन्य केटेगरी में भी 25 हजार रुपये, 21 हजार रुपये और 11 हजार रुपये के पुरस्कार भी दिए जाएंगे।

कृषि मंत्री ने कहा कि हरियाणा सरकार देसी नस्लों को बढ़ावा देने और उन्हें बेहतर करने के साथ- साथ प्रदेश को प्रति पशु दुग्ध उत्पादन में प्रथम स्थान पर ले जाने के लक्ष्य के साथ कार्य कर रही है। इस मेले में उच्चतम नस्ल के पशुधन की प्रदर्शनी की जाएगी। इस प्रर्दशनी में  पशुपालन क्षेत्र से जुड़ी विभिन्न संस्थाओं, विभागों द्वारा स्टाल लगाकर किसानों एवं पशुपालकों को जानकारी प्रदान की जाएगी।

उन्होने बताया कि प्रदर्शनी में मिल्क पार्लर का भी प्रदर्शन किया जाएगा। इसके अलावा, किसानों एवं पशुपालकों के लिए विभिन्न विभागों द्वारा चलाई जा रही योजनाओं व नवीन तकनीकों एवं गतिविधियों की जानकारी भी प्रदान की जाएगी। पशुधन की नवीनतम तकनीकी जानकारियां प्रदान करने के लिए सेमिनारों का आयोजन भी किया जाएगा।

इन सेमीनारों में पशुपालन क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा पशुपालकों को जानकारियां प्रदान की जाएंगी। इस कार्यक्रम मेें लगभग 25 हजार किसान भाग लेंगे। प्रर्दशनी में भाग लेने के लिए किसानों व पशुपालकों को आमंत्रित किया जा रहा है।

धनखड़ ने कहा कि ब्राजील के साथ एंब्रो टेक्नोलोजी के द्वारा सरोगेट मदर की अवधारणा कर उच्च नस्ल के पशुधन पैदा करने पर एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैंं ताकि अच्छी नस्ल का पशुधन प्रदेश को प्राप्त हो सके। प्रति पशु दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए इजरायल के साथ एक समझौता किया गया है ताकि जेनेटिक, तापमान नियंत्रण, चारा और प्रौद्योगिकी विषयों पर उनसे सहायता ली जा सके।

इजराइल के साथ मिलकर एक उत्कृष्टता केंद्र भी हिसार में बनाया जा रहा है, जिससे पशुधन का रूप पूर्णत: बदल जाएगा। हरियाणा का पशुधन प्रदर्शनी मेला पूरे भारत वर्ष में अकेला उत्कृष्ट पशु मेला है, जहां पशुपालक पशुधन को खरीद एवं बेच सकेंगे।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सोनाली फौगाट और अफसर पर केस हुआ दर्ज, दोनों तरफ से दी गई थी शिकायत

Yuva Haryana, Hisar हिसार में बì…