तीस साल पुराने केस में नवजोत सिद्धू की बढ़ सकती है मुश्किलें, रोड रेज में हुई थी बुजुर्ग की मौत

Breaking अनहोनी चर्चा में देश बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा

Yuva Haryana
Chandigarh, 22 March, 2018

नवजोत सिंह सिद्धू ने क्रिकेट से राजनीति में पलटी मारी और उसके बाद बीजेपी से कांग्रेस में पलटी मारी और अब हाल ही मैं कांग्रेस अधिवेशन में पलटू बयानबाजी करके चर्चा में आए नवजोत सिंह सिद्धू की अब मुश्किलें बढ़ सकती है. करीब तीस साल पुराने केस में एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरु हो गई है. इसी सोमवार को नवजोत सिंह सिद्धू केस में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरु हुई है।

यह केस करीब तीस साल पुराना है और एक रोड रेज का केस है. इस मामले में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2006 में दोषी ठहराया था. लेकिन सिद्धू ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू की याचिका के आधार पर सजा पर रोक लगा दी थी लेकिन अब एक बार फिर इस मामले में सुनवाई शुरु हो गई है।

घटना 27 दिसंबर 1988 की है। सिद्धू और गुरनाम सिंह नाम के एक बुजुर्ग के बीच कार पार्किंग को बहस हो गई। बात मारपीट तक पहुंच गई। मारपीट में गुरनाम को गंभीर चोट आई। अस्पताल में गुरनाम की मौत हो गई थी।

इस मामले में सिद्धू और उनके साथी पर हत्या की कोशिश की मामला दर्ज किया था लेकिन पटियाला कोर्ट ने साल 1999 में बरी कर दिया था, यह मामला फिर पंजाब हरियाणा में पहुंच गया था और माननीय हाईकोर्ट ने दोनों को दोषी ठहरा दिया था।

नवजोत सिंह सिद्धू ने जेल से बचने के लिए साल 2007 में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और वहां से जमानत ले ली थी. सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू की सजा पर भी रोक लगा दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *