प्रदेश में इस बार खाद, बीज की नहीं आएगी कमी, कृषि मंत्री ने किसानों को किया आश्वस्त

Breaking खेत-खलिहान चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 18 June, 2018

हरियाणा मे पहली बार आगामी फ़सल की संपूर्ण आयोजना की बैठक में आज “ख़रीफ़ 2018 “से सम्बंधित समस्त पहलुओं को लेकर प्रारम्भ हुई है । बैठक में ख़रीफ़ 2018 की फ़सल का सम्भावित प्रारूप, समस्त इनपुट की आयोजना, सिंचन जल की उपलब्धता, रोगों की चुनौतियों से बचाना, फ़सल की पूर्णता पर ख़रीद, समस्त तैयारियों के विचारार्थ व चुनौतियों के आकलन व उनकी पूर्व तैयारी निमित यह पहली बैठक हुई है । यह जानकारी कृषि मंत्री औमप्रकाश धनखड़ ने दी ।

आगामी वर्षो मे इसे परम्परा बनाया जायेगा । जून की बजाय मई के अंतिम सप्ताह मे ख़रीफ़ बैठक तथा सितम्बर माह मे रबी की बैठक किया करेंगे। 14.72 लाख हेक्टेयर पर 90 लाख टन जिसमें 60 लाख टन मोटा धान व 30 लाख टन बासमती उत्पादन होने की सम्भावना है ।

5 लाख हेक्टेयर भूमि पर 7 लाख टन बाजरा, पचास हज़ार हेक्टेयर भूमि पर पचास हज़ार टन ज्वार, 5.69 लाख हेक्टेयर भूमि पर 23 लाख गाँठें, 10 हज़ार हेक्टेयर भूमि पर 60 हज़ार टन तथा बीस हज़ार हेक्टेयर भूमि पर 15 हजार टन दालें उत्पन्न होने की सम्भावना है ।

दस हज़ार क्विंटल बीज की आवश्यकता है । उपलब्धता लगभग दुगनी है । 8 लाख क्विंटल यूरिया, व तीन लाख क्विंटल डी ए पी की आवश्यकता है । उपलब्धता पर्याप्त है ।

सिंचाई के जल, सिंचाई हेतु बिजली आपूर्ति, व ख़रीद के समस्त इंतज़ामों की समीक्षा की गई । इस बार अच्छा मानसून आने की सम्भावना है । लेकिन मानसून की चुनौतियों को भी ध्यान मे रखते हुये यदि कोई कठिनाई आती है तो, वैकल्पिक योजनाओं पर भी विचार किया गया ।

फ़सलो का बीमा 37 % फ़सलो तक विस्तारित है । 137 करोड़ अवशेष प्रबंधन पर ख़र्च करेंगे ।

इस बैठक मे सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, किसान आयोग के चेयरमैन डा० रमेश यादव व सभी सदस्य, हैफड चेयरैन हरविंदर कल्याण, वेयर हाउसिंग के चेयरमैन श्री निवास गोयल, चेयरमैन अग्रो इंडस्ट्री चेयरमैन गोविंद भारद्वाज, चेयर मैन भूमि सुधार अजय गौड़ ,अतिरिक्त मुख्य सचिव सहकारिता विभाग नवराज संधु, अतिरिक्त मुख्य सचिव खाद्य आपूर्ति विभाग रामनिवास, कृषि सचिव अभिलक्ष लेखी, मार्केट बोर्ड के सचिव मंदीप बराड़, सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियंता विरेंद्र सिंह व अन्य अधिकारी उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *