हिसार सैनिक छावनी से जासूसी के शक में पकड़े गए तीन युवक, अब पुलिस के हवाले करेगी सेना

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Rudra Rajesh Kundu, Yuva Haryana

Hisar, 3 August 2019

हिसार छावनी में सेना की जांच एजेंसियों ने तीन संदिग्ध लोगों को पकड़ा है। इनके मोबाइल फोन से छावनी के अंदर की वीडियो मिली है। तीनों से पूछताछ की जा रही है। इन्हें शनिवार को पुलिस को सौंपा जाएगा। आरोपियों की पहचान उत्तर प्रदेश के शामली के मसाबी निवासी 22 वर्षीय खालिद, मुजफ्फरनगर के शेरपुर गांव निवासी 28 वर्षीय महताब और 34 वर्षीय रागीब के रूप में हुई है। हिसार कैंट छावनी की इंटेलीजेंस टीम और सेना पुलिस ने मेहताब, खालिद और राजीव को जासूसी के शक में पकड़ा है। पकड़े गए तीनों आरोपियों में से मेहताब ज्यादा शक के दायरे में है।महताब ने एक भारतीय फोन नंबर पर कैंट क्षेत्र की वीडियो और फोटो बनाकर भेजी थी। वही पकड़ा गया। खाली जांच एजेंसियों को बरगलाने का प्रयास कर रहा है। उसकी तरफ से जुलाई के प्रथम सप्ताह में जिस नंबर पर व्हाट्सएप कॉल की गई। वह पाकिस्तान और उससे जुड़े किसी शख्स का है। साथ ही वह जांच एजेंसी को पाकिस्तान में रिश्तेदार होने की बात कहते हुए सही तरह से रिश्ता भी नहीं बता पा रहा है। जांच एजेंसियों की तरफ से नंबर के अलावा उसकी तरफ से बताए जा रहे हैं रिश्तेदारों की भी जांच शुरू कर दी है। दरअसल हिसार छावनी में मिलिट्री इंजीनियर सर्विस की बिल्डिंग का निर्माण चल रहा है उसके लिए मजदूरों को भेजा गया था।तीनों आरोपितों की वहां तक पहुंचने के बाद एजेंसियों ने जासूसी के शक में उनको पकड़ा था। पकड़े गए खालिद के फोन नंबर की जांच हुई तो उसने पाकिस्तान के नंबर पर बातचीत के सामने आई। खालिद ने बताया कि पाकिस्तान में उसका रिश्तेदार रहता है। एजेंसियों ने रिश्ता पूछा तो वह कभी बुआ के कभी मामा का रिश्ता बताने लगा। जिससे उस पर शक बढ़ गया। नंबर की जांच की गई तो पता चला कि वह पाकिस्तान में किसी शख्स का नंबर है। मिलिट्री इंटेलीजेंस ईस एंगल की जांच करने के साथ अब उस नंबर की जांच शुरू की गई जिस पर छावनी की वीडियो और फोटो भेजी गई है। भारतीय नंबर होने के कारण कांटा निकालने के साथ उस व्यक्ति से भी पूछताछ हो सकती है। सेना की तरफ से आप सभी को पुलिस को सौंपा जा रहा है उसकी तरफ से अब आगे की जांच शुरू होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *