बेटी के सपने को पूरा करने के लिए किसान पिता ने लगा दी जीवन भर की पूंजी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Fatehabad, 23 Feb, 2019

बेटी की खुशियों के लिए एक पिता क्या- क्या कर सकता है, उसका एक उदाहरण हमे फतेहाबाद में देखने को मिला। फतेहाबाद के गांव सूलीखेड़ा में एक किसान पिता ने अपनी बेटी के सपने को पूरा करने के लिए जीवनभर की पूंजी दाव पर लगा दी। जिसके चलते आज उसकी बेटी प्रियंका कामयाबी की बुलंदियों को छू रही है और पायलट के पद पर स्थित है।

प्रियंका को बचपन से ही जहाज उड़ाने का शौंक था। वह खुले आसमान की ओर घंटों तक देखती थी और जब कोई जहाज गुजरता था, तो बड़ी खुश होती थी। वह अपने पिता से जहाज की उड़ान को लेकर सवाल पूछती थी और अक्सर अपने पिता से पायलट बनने की बात कहती थी। बेटी में पायलेट बनने के इस जनून को पिता ने बड़ी गंभीरता से लिया।

खेती से गुजारा करने वाले पिता के लिए बेटी का सपना पूरा करना इतना आसान भी नहीं था। लेकिन फिर भी उन्होंने ठान लिया था कि बेटी ने जो सपने बुने है, वह उन्हें अवश्य पूरा करेंगे। प्रियंका के पिता सूरत सिंह बेनीवाल बताया कि बेटी को पायलट का कोर्स करवाने का खर्चा सुनकर एक बार तो उनके पैरों तले जमीन ही खिसक गई थी, क्योंकि उनकी आजीविका जमीन की उपज से चल रही थी। दंपत्ि ने बैंक से लोन लेकर बेटी को पायलट का कोर्स करवाया।

आखिर वह पल भी आ गया जब बेटी प्रियंका कठिन ट्रेनिंग की बाधा पार कर पायलट की ड्रेस में सामने खड़ी मिली। माता- पिता की खुशी के अलावा पूरा गांव ही गर्व से झूम उठा था। प्रियंका अब बेंगलुरू में एक निजी कंपनी इंडिगो के जहाजों को उड़ा रही है।

प्रियंका ने बताया कि उसके पापा ने शुरू से ही उसकी हर संभव मदद की है। प्रियंका ने कहा कि उसने  2007 में सोनीपत में स्थित हाई स्कूल में 12वीं की परीक्षा पास की थी और उसी वर्ष इंडियन एविएशन बोर्ड के एग्जाम में अच्छी रैंकिंग हासिल की थी। इसके बाद दिल्ली फ्लाईंग क्लब से अपने सपने को साकार करने की शुरूआत की। इसके बाद डब्ल्यूसीसी एक्सेल एयर एवियेशन फ्लाईंग स्कूल फिलिपिंस से अपना प्रशिक्षण पूर्ण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *