आज हो सकता है मंत्रीमंडल का विस्तार, जानिए कौन- कौन है इस दौड़ में शामिल ?

Breaking Uncategorized चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Hayana

12 Nov, 2019

हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर ने रविवार काे दिल्ली में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार, करीब ढाई घंटे तक चली इस बैठक में शाह ने सीएम द्वारा तय किए गए मंत्रियों के नामों पर मुहर लगा दी है। मंत्री बनने के लिए 13 नाम दौड़ में चल रहे हैं। जबकि सूत्रों की मानें तो पहले विस्तार में 8 या 9 विधायकों को ही मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की चर्चा है। शाह के साथ बैठक मेंभाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, हरियाणा के प्रभारी डाॅ. अनिल जैन, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला और संगठन मंत्री सुरेश भट्‌ट भी मौजूद रहे।

शाह बोले-मंत्रिमंडल में हर वर्ग का ध्यान रखा जाए….

बैठक के दौरान शाह ने मंत्रिमंडल में हर वर्ग का ध्यान रखने को कहा, ताकि कोई भी वर्ग छूटने न पाए। इधर, राज्यपाल भी बिहार से रविवार को वापस चंडीगढ़ लौट आए हैं। वहीं, 11 नवंबर को सीएम को पठानकोट जाना है। हालांकि, वे दोपहर बाद चंडीगढ़ पहुंच जाएंगे। संभावना है कि 12 नवंबर को मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है।

ये मंत्री हैं रेस में, 12 को मंत्रिमंडल विस्तार संभव……

पूर्व मंत्री अनिल विज, पूर्व विधानसभा स्पीकर कंवरपाल गुर्जर, पूर्व मंत्री डॉ. बनवारी लाल का नाम सबसे आगे हैं। वहीं, अहीरवाल से अभय सिंह यादव भी रेस में हैं।
ब्राह्मण कोटे से बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा, बड़खल से सीमा त्रिखा भी मंत्री बन सकती हैं।
पलवल से दीपक मंगला, हिसार से डाॅ. कमल गुप्ता व सुधीर सिंगला भी मंत्री पद की रेस में हैं।
जाट कोटे से जेपी दलाल, महीपाल ढांडा, कमलेश ढांडा के अलावा निर्मल चौधरी में से एक को मंत्री बनाया जा सकता है।
रानियां से निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह और महम के विधायक बलराज कुंडू के नाम भी चल रहे हैं।
घरौंडा से दूसरी बार विधायक बने हरविंद्र कल्याण का नाम भी मंत्री पद के लिए चल रहा है।
जजपा के कोटे से रामकुमार गौत्तम, गुहला से विधायक ईश्वर सिंह और उकलाना विधायक अनूप धानक के नाम भी मंत्री पद की दाैड़ में शामिल हैं।

सूत्रों के अनुसार, बैठक में यह तय हुआ कि हर लोकसभा से कम से कम एक मंत्री का प्रतिनिधित्व हो। इसका पूरी तरह ध्यान रखा गया है। किस मंत्री की कितनी शिक्षा और कितना राजनीतिक अनुभव है, पार्टी के टिकट पर कितनी बार जीते हैं। इस तरह के सारे पॉइंट ध्यान में रखे गए हैं। वहीं, हर वर्ग को मंत्रिमंडल में जगह देने की भी कोशिश है।

जिन विधायकों को मंत्री पद दिया जाना है, उनको आज चंडीगढ़ पहुंचने का न्योता मिलेगा। क्योंकि राजभवन में इनको शपथ दिलाई जाएगी। सूत्रों का कहना है कि ऐसा हो सकता है कि तीन से चार मंत्रियों को बाद में शपथ दिलाई जाए। ऐसे में 8 या 9 मंत्रियों को भी शपथ दिलाई जा सकती है। बाद में मंत्रिमंडल का एक और विस्तार हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *