कॉलेजों के प्रोफेसरों को कंप्यूटर प्रशिक्षण देगी सरकार, शिक्षा मंत्री ने दी जानकारी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Yuva Haryana
Chandigarh, 26 Dec, 2018
हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि सरकारी कालेजों में सेवारत सभी प्रोफसरों को कंप्यूटर का बेसिक प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि वे वर्तमान डिजीटल युग में अपनी तकनीकी क्षमता का विकास कर सकें।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में उच्चतर शिक्षा को बढ़ावा दे रही है। साथ ही उच्चतर शिक्षा देने वाले अध्यापकों को समय-समय पर कोर्स करवाकर उनकी तात्कालिक जानकारी में वृद्धि कर रही है। उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा सरकारी सहायता प्राप्त अराजकीय महाविद्यालयों में 8 जनवरी, 2015 से ई-पेंशन स्कीम शुरू की गई है, जिसके तहत कर्मचारियों की पैंशन उनके पैंशन खातों में ट्रांसफर की जा रही है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के विजन को पूरा करने की दिशा में हरियाणा सरकार ने उच्चतर शिक्षा विभाग में कई कदम उठाए हैं। हरियाणा के युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं है, बस जरूरत है उसको सही ढंग से पहचानने की। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा कुछ कालेजों में ‘स्टार्ट अप इन्क्यूबेटर-कम-सैंटर ऑफ एक्सीलेंस’ शुरू किए जा रहे हैं, ताकि राज्य के विद्यार्थी अपनी प्रतिभा को पंख देकर सफलता की उड़ान भर सकें। ‘स्टार्ट अप इन्क्यूबेटर-कम-सैंटर ऑफ एक्सीलेंस’ से जहां युवाओं के लिए नौकरियों के कई द्वार खुलेंगे, वहीं वे खुद अपना व्यावसाय शुरू कर सकते हैं।

शर्मा ने उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा किए जा रहे गुणवत्तापरक कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि ‘शिक्षा सेतू’ नाम की मोबाइल एप शुरू की गई है, जिससे महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थी अब ऑनलाइन अपनी फीस भर सकेंगे और स्कॉलरशिप प्राप्त कर सकेंगे।

विद्यार्थियों की शिकायतें व अध्यापकों की कार्यक्षमता का मूल्यांकन भी किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा सरकार ने पिछले चार साल में उच्चतर शिक्षा में कई सुधारात्मक कदम उठाए हंै।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का प्रयास है कि हरियाणा के महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों में पढ़ाने वाले विद्यार्थी अंतर्राष्ट्रीय स्तर की शिक्षा हासिल कर सकें, ताकि वे प्रतियोगिता के युग कहीं भी पीछे न रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *