”मैं निशब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है”- पीएम नरेंद्र मोदी

Breaking Uncategorized चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

देश को एक नई राह दिखाने वाले, सबके चहेते पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सबको अलविदा कह गए।
एम्स में गुरुवार को इलाज के दौरान उनका निधन हो गया।

शाम 5 बजके 5 मिनट पर  उन्होंने 93 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। एम्स में मौजूद लोगों ने ”जब तक सूरज चांद रहेगा, अटल जी का नाम रहेगा” के नारे लगाकर अपना प्रेम प्रदर्शित किया।  निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई नेताओं ने शोक जताया।

साथ ही उनके निधन पर सात दिन का राजकीय शोक भी घोषित किया गया। बता दें, की शुक्रवार सुबह 9 बजे भाजपा मुख्यालय में उनका पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। दोपहर बाद अंतिम यात्रा, साथ ही प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा की ”मैं निशब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है”। हम सभी के श्रेध्य अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था ।

उनका जाना एक युग का अंत है। यह निर्णय लिया गया है की अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि विजय घाट पर बनेगी। वाजपेयी जी भाजपा के पहले नेता है, जिनका विजय घाट पर मार्क होगा। डेढ़ एकड़ में उनका विशाल स्मारक बनेगा ।

अंतिम संस्कार के लिए निर्धारित किये गए राष्ट्रिय समृति में दिल्ली नगर निगम के आयुक्त सहित केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ,भारतीय सेना के अधिकारी व ग्रह मंत्रालय ने निरीक्षण कर दिया है। वहां पहले से ही पूर्व पीएम लाला बहादुर शास्त्री व उनकी पत्नी की समाधि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *