Chandigarh- बिल्डिंग प्लान अप्रूव कराने के लिए बनाने होंगे पार्किंग में वाहन चार्जिंग प्वाइंट

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana, Chandigarh

इलेक्ट्रिक वाहनों को इस्तेमाल करने के लिए जागरूकता लाने के लिए और इन वाहनों को इस्तेमाल करवाने के साथ-साथ प्रशासन को इन्हें चार्ज करने की हर बेहतर सुविधा देना भी जरूरी है। इसीलिए प्रशासन द्वारा नए बनाए गए यूटी सेक्रेटेरिएट और चण्डीगढ़ हाउसिंग बोर्ड में बनाई जाने वाली नई बिल्डिंंग को इस तरह से डिजाइन किया है, जिसमें वहां रहने वालें लोगों को बेसमेंट में वाहन पार्किंग के साथ-साथ इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए प्वाइंट भी मिलेंगे। ताकि वह अपने वाहनों का जहां पार्क किया है वहीं चार्ज भी कर सके।

यूटी प्रशासन इस पर काम कर रहा है। साथ ही प्रशासन का कहना है कि नई बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन करते समय इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अनिवार्य रूप से चार्जिंग प्वाइंट बनाने होंगे। सरकारी बिल्डिंग में तो यह अनिवार्य कर ही दिया गया है। अब निजी बिल्डिंग में भी चार्जिंग प्वाइंट उपलब्ध कराने के लिए नियम बनेगा। बिना चार्जिंग प्वाइंट के बिल्डिंग प्लान अप्रूव ही नहीं होगा। जिस तरह से इतने एरिया की बिल्डिंग पर सोलर प्लांट लगाना अनिवार्य है। इसी तरह से इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन भी बनाने जरूरी होंगे। इसके लिए बिल्डिंग अर्बन रूल्स में संशोधन करने की तैयारी है।

इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट पॉलिसी भी बना रहा है। इन वाहनों को रोड टैक्स की पहले ही छूट है। अब रजिस्ट्रेशन के साथ पार्किंग फीस भी छोड़ने की तैयारी है। अब शरह में सिर्फ सीएनजी और इलेक्ट्रिक ऑटो ही चलेंगे। कुछ समय बाद डीजल कैब को भी बंद करके पूरी तरह से इलेक्ट्रिक कैब ही शहर में चलाई जाएगी। ताकि शहर को प्रदूषण से दूर रखा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *