पंचायतों में महिला सरपंचों की भागीदारी को लेकर उप राष्ट्रपति का पुरुषों पर कटाक्ष

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Rohtak, (26 March 2018)

रोहतक आईआईएम के सातवें दीक्षांत समारोह में पहुंचे  उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने देश में महिला सरपंचो की अनदेखी पर पंचायत और निगमों की बैठक में पहुंचने वाले पतियों पर कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि महिलाएं मेहनत कर सरपंच बनती हैं और उनकी जगह पंचायतों में पहुंचते हैं उनके पति।

एक बार महिलाओं को कमान देकर तो देखों पतियों की स्थति न बदल दें तो कहना। उन्होंने कहा कि महिलाएं किसी क्षेत्र में कम नहीं हैं। भारत देश को महिलाओं का देश बताते हुए उन्होंने हर क्षेत्र में उन्हें आगे बढ़ने के लिए जोश का संचार किया।

इस से यह पता चलता है कि आज भी समाज में पुरुष सोच हावी है। सरकार महिलाओं को आगे लाने के लिए अनेक कार्य कर रही है। सरपंची चुनाव के लिए शैक्षणीक योगयता लगाने के बाद महिलाएं सरपंच तो बन गई लेकिन आज भी पंचायती फैसले करने का हक सिर्फ पुरुषों को है।

सरपंच बनने के बाद भी महिलाओं को फैंसले नहीं लिए दिया जाता है। जिस से यह पता चलता है कि हमारे समाज में पुरुषवादी सोच कितनी हावी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *