इस गांव की पंचायत ने उठाया अनोखा कदम, अब गांव का हर बच्चा सरकारी स्कूल में करेगा पढ़ाई

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Fatehabad, 24 March, 2019

फतेहाबाद के गांव ढाणी ईस्सर की पंचायत ने अनोखा निर्णय लेते हुए गांव के प्रत्येक बच्चे को सरकारी स्कूल में पढ़ाने का निर्णय लिया है।

पंचायत का कहना है कि गांव का हर बच्चा चाहे वो बड़े घर का सन्नी हो या गरीब घर का सोनू हो सब को सरकारी स्कूल में पढ़ना होगा।

जिला मुख्यालय से दस किलोमीटर दूर स्थित इस गांव की पंचायत ने बैठक कर ऐतिहासिक निर्णय लिया। इसके लिए बकायदा ढाणी ईस्सर एजुकेशन सोसायटी का गठन किया गया है। गांव का यह फैसला पूरे प्रदेश में सरकारी स्कूलों के लिए नकारात्मक सोच रखने वालों के लिए एक सीख है।

ढाणी ईस्सर के करीब 200 घरों के मुखियाओं की रजामंदी से लिया गया है। इसके लिए बाकायदा पंचायत की बैठक बुलाई गई। प्राइवेट स्कूलों में बच्चे भेजने के खिलाफ प्रस्ताव रखा गया। पंचायत की सहमति से यह निर्णय लिया गया।

करीब 150 बच्चों को शहर के तमाम छोटे-बड़े स्कूलों से हटाकर उन्हें गांव के ही स्कूल में दाखिला दिलाया जाएगा। सरपंच प्रतिनिधि सुभाषचंद्र की अध्यक्षता में ग्रामीणों ने ‘एक पहल सरकारी स्कूल की ओर’ नाम से अभियान चलाने पर मुहर लगाई। सरपंच का कहना है कि बच्चों के भविष्य को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।

ग्रामीणों का कहना है प्राइवेट स्कूल मनमाफिक रिजल्ट देकर बच्चों की शिक्षा कमजोर कर रहे है। इसलिए ग्रामीणों ने मिलकर ढाणी ईस्सर एजुकेशन सोसाइटी का गठन किया है। यह सोसाइटी गांव के सरकारी स्कूल में निजी स्कूलों की तरह बच्चों को सुविधाएं उपलब्ध करवाने का काम करेगी।

सोसायटी के सदस्यों ने बताया कि गांव के सरकारी स्कूल में इस समय सात अध्यापकों की आवश्यकता है। इस कमी को पूरा करने के लिए ग्रामीण अपने स्तर पर अध्यापकों की नियुक्ति करेंगे। आने वाले अध्यापकों को अच्छी सैलरी दी जाएगी और शिक्षित अध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी।

सरकारी स्कूलों में भी चारो ओर सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए है। प्राइवेट स्कूल की तरह हर सुविधा दी गई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *