गांव के 100 बुजुर्ग भारतीय सेना राहत कोष में देंगे अपनी एक महीने की पेंशन

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana

Karnal, 1 March, 2019

करनाल के गांव टपरिया के बुजुर्गों ने अपनी एक महीने की पेंशन भारतीय सेना राहत कोष में देने का फैसला किया है। बता दे कि गांव में करीब 100 महिला और पुरुषों को बुढ़ापा पेंशन मिलती है, जिसके हिसाब से 2 लाख रुपए बनते है।

गांव में बुजुर्ग, महिलाओं और युवको की स्कूल में बैठक हुई, जिसमें गांव के लोगों ने कहा कि देश से बढ़कर कुछ नहीं है। गांव के बुजुर्ग पेंशन तो देंगे ही साथ में गाव से पैसा इकट्ठा कर सेना की राहत कोष में भेजेंगे। गांव के सरपंच गुरदेव ने बताया कि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। उन्हें मुहतोड़ जवाब देने का वक्त आ गया है।

बुजुर्गों ने  कहा कि सरहदों पर तैनात जवानों के कारण ही हम आराम की नींद सोते हैं। सैनिकों की सेवा का हमारा भी फर्ज बनता है। गांव के बुजुर्ग पेंशन तो देंगे ही साथ में गाव से पैसा इकट्ठा कर सेना की राहत कोष में भेजेंगे।