विरेंद्र मराठा की एकता शक्ति पार्टी का कांग्रेस में विलय, बदलेंगे उत्तरी हरियाणा के राजनीतिक समीकरण

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा

Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 24 May, 2018

उत्तरी हरियाणा की राजनीति के मजबूत स्तंभ माने जाने वाले एकता शक्ति पार्टी नेता वीरेन्द्र मराठा ने आज हरियाणा के पूर्व मुख्य मंत्री भूपेन्द्र सिंह हूडडा के नेतृत्व में अपनी पार्टी का कांग्रेस में विलय करते हुए कहा कि हरियाणा के विकास और प्रगति के लिए कांग्रेस और हुड्डा जरुरी है।

अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए एकता शक्ति पार्टी के नेता वीरेन्द्र मराठा ने कहा की यह सिर्फ एक राजनीतिक मिलन नहीं, पर दिलों का मिलन है और वो आने वाले समय में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और हरियाणा के पूर्व मुख्य मंत्री भूपेन्द्र सिंह हूडडा के नेतृत्व में पूरी श्रद्धा से कांग्रेस के सच्चे सिपाही के रूप में काम करेंगे।

“हरियाणा को लोगों ने हूड्डा जी को 10 साल सेवा करने का मौका दिया और इन दस सालों में हरियाणा हर मोर्चे पर आगे बढ़ा। उनके कार्यकाल में किसान खुशहाल था, युवा आशावान था, महिलाएं सुरक्षित थी और व्यापारी फल-फूल रहा था। लोगों ने बड़ी आशाओं के साथ भाजपा सरकार को चुना था पर चार साल के बाद किसान बेहाल है, युवा निराश है, महिलाएं असुरक्षित हैं और व्यापारी बरबादी की कगार पर है। एसी हालत में, सिर्फ हुड्डा जी ही हरियाणा को फिर विकास की पटरी पर ला सकते हैं। आज हरियाणा को हुड्डा और कांग्रेस की जरुरत है,” मराठा ने कहा।

एकता शक्ति के नेताओं और कार्यकर्ताओं का स्वागत करते हुए हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुडडा ने कहा कि आज हरियाणा के हर वर्ग परेशान है और बदलाव के प्रतीक्षा में है। हुड्डा ने कहा कि आज सब को साथ मिलकर लड़ाई लड़नी होगी।

हुड्डा ने कहा कि वीरेन्द्र मराठा ने अपने लम्बे सामाजिक और राजनीतिक सफर में हमेशा किसान और आम आदमी के हित की बात की है। “वीरेन्द्र मराठा जी के साथ आने से कांग्रेस को मजबूती मिलेगी और हर कांग्रेस कार्यकर्ता को बल मिलेगा। यह एक राजनीतिक विलय ही नहीं, दिलों का मिलन है। हमारे विचार एक है,हमारी सोच एक है और सबसे बड़ी बात, एकता में शक्ति है, ”हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा।

हुड्डा ने कहा कि प्रदेश के राजनीतिक हालात पर बात करते हुए कहा कि कांग्रेस के दस सालों में हरियाणा अभूतपूर्व प्रगति की।“चौटाला सरकार के समय 2004 का बजट 2,300 करोड़ रुपये था। 2014 में हमने अपना आखिरी बजट 32,000 करोड़ का दिए था। हमारे समय में हरियाणा हर दिशा में आगे बढ़ा पर आज हरियाणा कर्ज के बोझ के नीचे दब रहा है और कभी नंबर 1 रहा हरियाणा विकास की दौड़ में पिछड़ गया है। आज हम सबको मिलकर हरियाणा को फिर विकास की पटरी पर वापिस लाना है,” श्री हुड्डा ने कहा।

रोहतक सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने  मराठा का स्वागत करते हुए कहा कि उनकी पहचान एक राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ता के रुप में है और उनके कांग्रेस में आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी।“आज हरियाणा बदलाव की दिशा में बढ़ रहा है। कभी प्रति व्यक्ति आय में, प्रति व्यक्ति निवेश में, खेल और खिलाड़ियों के सम्मान में और कृषि उत्पादकता में नंबर वन रहा हरियाणा, भाजपा के कार्यकाल में महिलाओं के खिलाफ अपराध, बेरोजगारी और किसानों की बेहाली में नंबर वन बन गया है। आज हम सब को मिलकर संघर्ष करना है और प्रदेश को 36-बिरादरी के भाईचारे की नींव पर विकास के मामले में फिर नंबर 1 बनाना है,” दीपेंद्र ने कहा।

Read This News Also>>>
करनाल की जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सस्पेंड, नायब सैनी ने दिये आदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *