हरियाणा विधानसभा में इस बार उठा ये नया मुद्दा, भूपेंद्र सिंह हुड्डा घिरे

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

Yuva Haryana
Chandigarh, 26 Nov, 2019

हरियाणा में आज विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान एक नया मुद्दा उठकर सामने आ गया है जिसके बाद इसमें सत्तापक्ष और विपक्ष में अलग अलग राय देखने को मिली। दरअसल आज विशेष सत्र के दौरान नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने विशाल हरियाणा का मुद्दा उठा दिया जिसके बाद वो इस मुद्दे पर खुद ही घिर गए। इस दौरान सत्तापक्ष ने भी उनको निशाने पर ले लिया।

विधानसभा के आज विशेष सत्र के दौरान भूपेंद्र सिंह ने नया मुद्दा उठाते हुए कहा कि विशाल हरियाणा संविधान निर्माताओं का सपना था और अब इसे पूरा करने का समय आ गया है। हरियाणा के साथ साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हिस्से को भी शामिल किया जाए और दिल्ली को इस महा प्रदेश की राजधानी बनाई जाए।

हालांकि इस मुद्दे को लेकर जहां सत्तापक्ष ने विरोध किया और मुख्यमंत्री ने इससे अगंभीर मुद्दा करार दिया वहीं अनिल विज ने भी कांग्रेस पर करारा हमला बोला । अनिल विज ने तो यहां तक कह दिया कि कांग्रेस ने हरियाणा के लिए चंडीगढ़ का दावा भी छोड़ दिया है। उन्होने कहा कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा के विशाल हरियाणा की बात ने राजधानी चंडीगढ़ पर हरियाणा के दावे को कमजोर कर दिया है। अनिल विज ने तंज कसते हुए कहा कि रोहतक के नजदीक दिल्ली है इसलिए वो दिल्ली राजधानी चाहते हैं।

आपको बता दें कि नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने विशाल हरियाणा में पश्चिमी् उत्तर प्रदेश और राजस्थान के भरतपुर इलाके को शामिल करने का प्रस्ताव दिया। इस दौरान उन्होने कहा कि विधानसभा में अपने पिता रणबीर सिंह की बात की पुरानी बात को दोहरा रहा हूं, इसलिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश और भरतपुर समेत राजस्थान के कुछ इलाकों को मिलाकर विशाल हरियाणा बनाने की दिशा में सोचा जाना चाहिए।

विधानसभा में हुड्डा द्वारा उठाई गई इस मांग पर कांग्रेस विधायक खुद हैरान रह गए। कई विधायकों ने हुड्डा से उनके इस प्रस्ताव पर भोजन के समय चर्चा भी की। हुड्डा उन्हें यह समझाने में कामयाब रहे कि विशाल हरियाणा बनने के क्या फायदे हो सकते हैं। हुड्डा से पहले एक बार कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई और उनसे पहले उनके पिता स्व. भजनलाल ने भी ऐसा ही प्रस्ताव दिया था। तब उनके प्रस्ताव को खास समर्थन नहीं मिल पाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *