व्यापारियों के लिए क्लेक्टर रेट 20% कम, 20 साल पुराने कब्जे वाली प्रॉपर्टी अपने नाम करवा सकते हैं -मुख्यमंत्री

Breaking बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा
Deepak Khokhar
Rohtak, 8 April 2018

हरियाणा के व्यापारी अब कलेक्टर रेट से 20 प्रतिशत कम रेट पर दुकानों को अपने नाम करवा सकते हैं। इसके साथ ही जिन व्यापारियों का किसी दुकान पर 20 साल से वैध कब्जा है, वे उसे भी अपने नाम करवा सकेंगे। ये घोषणाएं मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने रोहतक में हुए व्यापारी सम्मेलन में की।

मुख्यमंत्री  ने राज्य के व्यापारियों को कई तोहफे दिए, जिनमें दुर्घटना में मृत्यु होने की स्थिति में व्यापारियों को 5 लाख रुपये के बीमे की सुविधा, व्यापारी कल्याण बोर्ड की समितियां बनाने, व्यापारियों को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए उनके स्टॉक व भवन के अनुरूप 5 से 25 लाख तक की क्षतिपूर्ति योजना, व्यापारियों को 20 प्रतिशत कम कलेक्टर रेट पर दुकानों को अपने नाम करवाने की सुविधा, व्यापारियों को 20 साल पुराने वैध कब्जों को आज के रेट के आधार पर अपने नाम रजिस्ट्री करवाने की सुविधा, मंडियों में व्यापारियों की सुरक्षा के मद्देनजर सीसीटीवी कैमरे लगवाने, टेंट व्यापारियों की शहरों में एंट्री संबंधी समस्या का समाधान जिला समितियों के माध्यम से करवाने की घोषणाएं शामिल थी। 

दुर्घटना में मृत्यु होने की स्थिति में व्यापारियों को 5 लाख रुपये के बीमे की सुविधा प्रदान की जाएगी और इसका प्रीमियम व्यापारी कल्याण बोर्ड व प्रदेश सरकार द्वारा संयुक्त रूप से वहन किया जाएगा। हरियाणा व्यापारी कल्याण बोर्ड में पंजीकरण करवाने वाले सभी व्यापारियों को इसका लाभ मिलेगा और बीमे का प्रीमियम भी व्यापारी कल्याण बोर्ड व प्रदेश सरकार द्वारा आधा-आधा वहन किया जाएगा।  व्यापारियों की सुविधाओं और उनकी समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए जिला स्तर पर भी व्यापारी कल्याण बोर्ड की समितियां बनाई जाएंगी। व्यापारियों को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए उनके स्टॉक व भवन के अनुरूप 5 से 25 लाख तक की क्षतिपूर्ति योजना बनाई जाएगी। इसके लिए बीमा कंपनियों से बात की जाएगी जिसका प्रीमियम भी व्यापारी कल्याण बोर्ड व सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।       

मुख्यमंत्री ने व्यापारियों को 20 प्रतिशत कम कलेक्टर रेट पर दुकानों को अपने नाम करवाने की सुविधा देने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि व्यापारियों को 20 साल पुराने वैध कब्जों को आज के रेट के आधार पर अपने नाम रजिस्ट्री करवाने की सुविधा भी सरकार देगी।
व्यापारी कल्याण बोर्ड की मांग पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी जिलों के बाजारों तथा मंडियों में व्यापारियों की सुरक्षा के मद्देनजर सीसीटीवी कैमरे लगवाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि बाजारों में शहरी स्थानीय निकाय तथा मंडियों में मार्केटिंग बोर्ड द्वारा सीसीटीवी लगवाने का कार्य करवाया जाएगा। इसी प्रकार टेंट व्यापारियों की शहरों में एंट्री संबंधी समस्या का समाधान जिला समितियों के माध्यम से करवाया जाएगा।
जीएसटी कम करने की मांगों के संबंध में उन्होंने व्यापारियों को भरोसा दिलाया कि वे उनकी सभी मांगें जीएसटी काउंसिल को भेज देंगे जो इस संबंध में निर्णय लेने वाली अखिल भारतीय संस्था है। इसी प्रकार, वाहनों की वहन क्षमता को बढ़ाने की मांग को भी उन्होंने केंद्र सरकार के पास भिजवाने का आश्वासन दिलाया।
Haryana Chief Minister, Mr. Manohar Lal acknowledging the greetings of the people at Virat Vyapari Sammelan in Rohtak on April 8,2018. Education Minister, Mr. Ram Bilas Sharma, Finance Minister, Capt. Abhimanyu, Industries and Commerce Minister, Mr. Vipul Goel, Women and Chief Development Minister, Mrs. Kavita Jain, Transport Minister, Mr. Krishan Lal Panwar, Minister of State for Cooperation, Mr. Manish Kumar Grover, Labour and Employment Minister, Mr. Nayab Singh Saini, BJP State President, Mr. Subhash Barala and Media Advisor to Chief Minister, Mr. Rajiv Jain are also seen in the picture.

8 साल किया है मैंने व्यापार, आपकी समस्याएं समझता हूं -मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे भी आपकी तरह 8 साल तक व्यापार करने का अनुभव रहा है जिसके चलते मैं व्यापारियों की समस्याओं को समझता हूं। अनेक पुराने मसलों को एक बार में ही खत्म करने के लिए प्रदेश सरकार वन टाइम स्कीम के अंतर्गत प्रदेशवासियों को बड़ी राहत देगी। उन्होंने कहा कि व्यापारियों को सुविधाएं देने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित किया जाने वाला यह दूसरा सम्मेलन है जबकि इससे पहले शायद ही किसी सरकार ने व्यापारियों की मांगों पर विचार के लिए ऐसे स मेलन किए हों। उन्होंने व्यापारियों को देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी बताते हुए इन्हें सरकार के लिए टैक्स संग्रह करने वाला महत्वपूर्ण स्रोतबताया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में जब भाजपा ने सत्ता संभाली थी तो प्रदेश ईज ऑफ डूइंग (उद्योग-धंधों की स्थापना में सहुलियतें देने के मामलों) में 14वें स्थान था जो 2016 में छठे स्थान पर पहुंचा। इस समय अप्रैल में फिर से इसकी रैंकिंग का कार्य चल रहा है जिसमें हम दूसरे स्थान पर पहुंच चुके हैं और जल्द ही हमारी नीतियों के चलते हम इस मामले में देश में पहले नंबर पर होंगे।
शिक्षामंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा ने रोहतक को अपनी कर्मभूमि बताते हुए बताया कि इसी धरती पर प्रदेश का शांतिपूर्ण वातावरण व आपसी भाईचारा खराब करने का षड्यंत्र रचा गया था जिसमें वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु का घर भी जल गया था। लेकिन प्रदेश सरकार ने तत्परता दिखाते हुए उपद्रवियों द्वारा जलाई गई 2476 दुकानों के मालिकों को एक माह के भीतर 102 करोड़ रुपये का मुआवजा वितरित किया और उनके जख्मों पर मरहम लगाया।

Haryana Chief Minister, Mr. Manohar Lal, Education Minister, Mr. Ram Bilas Sharma and BJP State President, Mr. Subhash Barala at Virat Vyapari Sammelan in Rohtak on April 8,2018.

वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि इतिहास में इतना बड़ा व्यापारी सम्मेलन आज तक किसी सरकार द्वारा आयोजित नहीं किया गया जबकि वर्तमान सरकार द्वारा यह दूसरा सम्मेलन है। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों में व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर बुरी नजर रखी जाती थीं, उन्हें डराया-धमकाया जाता था और उनसे फिरौतियां वसूली जाती थीं। पूर्व में सरकार चलाने वाले रहनुमाओं ने ही अपनी सरकार न बनने के दुख में व्यापारियों पर जुल्म ढाया और उनकी दुकानें जला दी गई अथवा लूट ली गई। लेकिन वर्तमान सरकार आने के बाद व्यापारी भयमुक्त होकर अपना कारोबार कर रहे हैं।

1 thought on “व्यापारियों के लिए क्लेक्टर रेट 20% कम, 20 साल पुराने कब्जे वाली प्रॉपर्टी अपने नाम करवा सकते हैं -मुख्यमंत्री

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *