बोतलबंद पानी कंपनियां कमा रही हैं अरबो रुपए,सरकार को नही देती कुछ भी

Breaking चर्चा में दुनिया देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

हमे बाजारों में पानी 12 रुपए प्रतिलीटर मिलता है इतना ही नही, कई कंपनियां अपनी मन मानी कर के अपनी मर्ज़ी से बोत्त्लों का शुल्क तय करते हैं । सिर्फ पानी की बोत्त्लों से ही कंपनियां 160 अरब रुपए कमा रही हैं । इसके बदले सरकार को कुछ भी नही देती है।

एक सरकार की ही रिपोर्ट ये कहती है कि अगले तीन साल में बोतलबंद पानी के कारण 21 बड़े शहरों में ग्राउंड वॉटर लेवल शून्य पर आ जायेगा। पानी का कारोबार करने वाली महज 375 कंपनियां हर साल 13 अरब 33 करोड़ लीटर ग्राउंड वॉटर निकल कर बेच रही है।

साफतौर पर यह दिख रहा है कि कंपनी मुफ्त में अरबों रुपए का धंधा कर रही है। वैल्यू नोट्स स्ट्रेटेजिक इंटेलिजेंस के अनुसार पिछले पांच साल में बोत्तल बंद के कारोबार में 100 अरब रुपए कि बढ़ोतरी हो गई है। पानी का यह कारोबार धड़ल्ले से चल रहा है।