Home कला-संस्कृति युवा हरियाणा स्पेशल: नवरात्रे में व्रत रखने का सही तरीका, जानिए एक्सपर्ट्स की राय

युवा हरियाणा स्पेशल: नवरात्रे में व्रत रखने का सही तरीका, जानिए एक्सपर्ट्स की राय

0
0Shares

नवरात्रि के मौके पर बहुत-से लोग व्रत रखते हैं। लेकिन आपने कभी सोचा है कि व्रत रखने का सही तरीका क्या है। अगर नहीं तो ये जानना है आपके लिए जरूरी-

एक्सपर्ट्स का कहना है कि व्रत रखने की आध्यात्मिक या सांस्कृतिक वजहें होती हैं, लेकिन सबसे खास बात होती है सेहत। व्रत अगर ढंग से रखा जाए तो यह सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद साबित होता है। लेकिन अगर व्रत ठीक से ना रखा जाए, तो यह सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में सही तरीके से व्रत रखना बहुत जरूरी है।

व्रत के फायदे

-वजन कम होना: व्रत रखने से शरीर में ऐसे हॉर्मोन निकलते हैं, जो फैटी टिश्यूज़ को तोड़ने में मदद करते हैं, यानी आपका वजन कम हो सकता है।

-शरीर का शुद्धिकरण: व्रत रखने से शरीर शुद्ध होता है। शरीर से जहरीले तत्व बाहर निकलते हैं, बशर्ते आप व्रत के दौरान फल और सब्जियों का सेवन ज्यादा करें।

-पाचन बेहतर होना: आयुर्वेद के अनुसार, व्रत रखने से शरीर में (डाइजेस्टिव फायर) बढ़ती है। इससे पाचन बेहतर होता है। इससे गैस की समस्या भी दूर होती है।

-नर्वस सिस्टम बेहतर होना: व्रत हमारे शरीर को हल्का रखता है। हल्के शरीर से मन भी हल्का रहता है और दिमाग बेहतर तरीके से काम करता है। व्रत पूरी सेहत पर सकारात्मक असर डालता है।

व्रत से हो सकते हैं ये नुकसान

-अगर कोई चीज जरूरत से ज्यादा की जाए तो उससे नुकसान होना तय है। लंबे समय तक बिना कुछ खाए-पीए रहने से इम्यून सिस्टम को नुकसान हो सकता है।

-अगर व्रत के दौरान बहुत लंबे समय तक भूखे-प्यासे रहेंगे, तो लिवर और किडनी को भी नुकसान हो सकता है।

-डायबीटीज, किडनी, कैंसर और पेशाब की समस्या से पीड़ित मरीजों को व्रत रखने से ज्यादा दिक्कत हो सकती है।

-व्रत के दौरान बहुत कम खाना खाने से पेट में एसिड बनना कम हो सकता है। यही एसिड खाना पचाने और बुरे बैक्टीरिया को खत्म करने का काम करता है।
है।

-ऐसे खोलें व्रत

वैसे तो नवरात्र के व्रत में व्रती दिन में कई बार खाते हैं, लेकिन कुछ लोग शाम में एक ही बार पूरा खाना खाते हैं। ऐसे लोग दिन में फलाहार के बाद शाम को जब पूरा खाना खाएं तो पराठों या पूड़ी से शुरुआत न करें। पहले आधा गिलास पानी और साथ में 4-5 खजूर या आधा कटोरी खीर खा लें। दरअसल, लंबे समय तक भूखा रहने के बाद दिमाग को ग्लूकोज के रूप में एनर्जी की जरूरत होती है। खजूर या खीर से दिमाग को एकदम एनर्जी मिलती है। इससे शरीर को ताकत भी मिलती है। परांठें या पूड़ी से खाने की शुरुआत करेंगे, तो भारीपन महसूस होगा और पाचन भी गड़बड़ा सकता है।

 

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In कला-संस्कृति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में आज सामने कोरोना के 311 नए पॉजिटिव केस, अभी तक 265 लोगों की हो चुकी मौत

Yuva Haryana, Chandigarh ये भी पढ़िय…