जानिये कौन हैं ‘गोल्डन गर्ल’ शूटर मनु भाकर ?

खेल युवा चैम्पियन शख्सियत

Yuva Haryana
Chandigarh, 13 April, 2018

झज्जर की बेटी मनु भाकर आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है, महज 16 साल की मनु भाकर ने अपनी प्रतिभा के बलबूते देश-विदेश में हरियाणा का नाम चमकाया है. यह बेटी कभी अपनी पिस्टल के लाइसेंस के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही थी लेकिन जिला प्रशासन इस होनहार बेटी का लाइसेंस नहीं बना रहा था.लेकिन मीडिया की मद्द से मनु भाकर का लाइसेंस बना और आज इस बेटी ने पदकों का ढेर लगा दिया है।

ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में 16 साल की मनु भाकर ने 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड जीत कर देश का नाम रोशन किया। मनु भाकर की इस उपलब्धि से पूरे हरियाणा को उन पर नाज है।

कौन हैं मनु भाकर ? >>>

मनु भाकर का जन्म हरियाणा के झज्जर जिला में गोरिया गांव में हुआ। उनके पिता रामकिशन भाकर मर्चेंट नेवी में बतौर चीफ इंजीनियर कार्यरत थे लेकिन अपनी बेटी के मार्गदर्शन के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ दी। स्कूल में रहते हुए 14 साल की उम्र तक मनु भाकर ने बॉक्सिंग, तैराकी के साथ-साथ और भी कई खेलों में हाथ आज़माया।

बॉक्सिंग में तो मनु ने लगातार कई मेडल भी जीते। चोट लगने के बाद मनु ने बॉक्सिंग छोड़ी तो उन्हें मणिपुर की मार्शल आर्ट थांग टा रास आई और उसके बाद जूडो में भी अपना जौहर दिखाया। रामकिशन भाकर ने जब मनु के नए स्कूल में छात्रों को शूटिंग करते देखा तो उन्होंने अपनी बेटी को शूटिंग करने की सलाह दी। फिलहाल मनु 12वीं क्लास की मेडिकल स्टूडेंट है।

शूटिंग में करियर की शुरुआत >>>

मनु भाकर ने 2 साल पहले ही शूटिंग में अपने करियर की शुरुआत की। 10 महीने पहले मनु ने जूनियर वर्ल्ड कप में हिस्सा लिया था और 49वें नंबर पर रही थीं। इस साल वो मेक्सिको में आयोजित सीनियर वर्ल्ड कप में खेलीं तो सीधा गोल्ड मेडल जीतकर महज 16 साल की उम्र में वर्ल्ड चैम्पियन बनने वाली पहली शूटर बन गई। मनु का निशाना कितना अचूक है इसका अंदाज़ा इस बात से लगा सकते हैं कि उन्होंने वर्ल्ड कप में पहले 10 मीटर एयर पिस्टल चैम्पियनशिप में गोल्ड जीता और फिर मिक्सड इवेंट में गोल्ड अपने नाम किया।

सिर्फ 2 साल पहले शूटिंग में हाथ आज़माने वाली मनु ने 2017 की नेशनल शूटिंग चैम्पियनशिप में 15 मेडल जीत कर दो नेशनल रिकॉर्ड भी बनाए थे। साथ ही मनु भाकर ने पिछले साल दिसंबर में जापान में आयोजित एशियन चैम्पियनशिप में सिल्वर जीता था। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में 16 साल की मनु भाकर ने 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड जीत कर देश का नाम रोशन किया।

डॉक्टर बनकर सेवा करना चाहती हैं मनु >>>

देश के लिए मेडल लाने वाली बेटी मनु भाकर डॉक्टर बनकर गरीबों की सेवा करना चाहती है, मनु भाकर मेडिकल की पढ़ाई कर रही है। मनु भाकर का मानना है कि सेवा से बढ़कर कुछ नहीं है, इसलिए वो डॉक्टर बनकर कुछ सेवा कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *