उत्तरप्रदेश और बिहार के उपचुनाव में जीत के बाद क्षेत्रिय पार्टियों राष्ट्रीय पार्टियों के विरुध एकजुट-सांसद दुष्यंत

राजनीति

उत्तरप्रदेश और बिहार के उपचुनाव में क्षेत्रिय पार्टियों को मिली जीत पर हरियाणा से INLD के सांसद दुष्यंत चौटाला का कहना है कि देश के क्षेत्रिय दल भी अब राष्ट्रीय दलों के विरूध एकजुट हो रहे है। वहीं संसद में भी क्षेत्रिय दल ही जनता की आवाज को उठाने का काम कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने संसद में पास किये गये फाइनेंस बिल को लेकर भी सरकार अपना निशाना साधा। दुष्यंत का कहना है कि इस तरह से फाईनेंस बिल पास कराना सरकार की घबराहट को दर्शाता है। सरकार विपक्ष की आवाज दबाने का प्रयास कर रही है।

दुष्यंत ने आज से प्रदेश में शुरू होने जा रही सरसों की फसल की खरीद को लेकर भी सरकार से प्रॉपर व्यवस्था बनाने की मांग ही है। दुष्यंत ने कहा कि केंद्र सरकार एमएसपी के साथ किसान के खेत की फसल की सीमा तय करने जा रही है, जो गलत है। उनका कहना है कि प्रदेश के पूर्व सीएम चौधरी ओमप्रकाश चौटाला प्रदेश को 28 हजार करोड के फायदें में छोड़ कर गये थे। लेकिन कांग्रेस प्रदेश को कर्जे में ले गई और खट्टर सरकार ने प्रदेश को दोगुने कर्ज के नीचे दबाने का काम किया है।

उन्होंने सरकार पर गरीब किसान और कमेरे की जगह अम्बानी और अडानी की मदद करने के आरोप लगाये। दुष्यंत चौटाला ने बहादुरगढ़ में इनेलो के भूतपूर्व सैनिक प्रकोष्ठ की बैठक भी ली। इसके बाद उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार ने पूर्व सैनिकों के साथ वन रैंक वन पेंशन पर धोखा किया है। सरकार ने सिपाही की पेंशन में 4 प्रतिशत और अफसरों को 30 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी दी है। उन्होंने पैरामिलेट्री जवानों की कैंटीन पर जीएसटी लगाने का भी विरोध किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *