मामले की जांच किए बिना ही पुलिस बन बैठी जज, लिया ऐसा फैसला जिसे सुनकर चौंक जाएंगे

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

Ajay Attri, Yuva Haryana
Rewari, 19-05-2018

कहते हैं कि दुनियां में माँ से बढ़कर कोई नहीं होता, लेकिन अगर माँ ही बेरहम बन जाए तो इसे आप क्या कहेंगे। रेवाड़ी में ऐसा ही ऐसा मामला सामने आया है, जहां बेरहम माँ ने अपनी दो मासूम बेटियों और एक बेटे को छोड़कर किसी और के साथ शादी रचा ली।

बाद में बेटे को जान का खतरा बताकर उसे भी पुलिस की मौजूदगी में लेकर चली गई। इस मामले में हैरान करने वाली बात यह रही कि पुलिस ने भी मामले की जाँच किए बिना ही थाने में जज की भूमिका निभा दी और पति से जबरन साइन कराकर बेटे को महिला के हवाले करा दिया।

जी हाँ, यह हम नहीं कह रहे, बल्कि यह कहना है नरवाना के रहने वाले पत्नी से पीड़ित रवि नामक उस शख्स का, जो अपनी मासूम बेटियों के साथ लगातार थाने के चक्कर काट रहा है, लेकिन यहां शायद उसकी सुनने वाला कोई नहीं है।

पीड़ित शख्स की माने तो उसकी शादी वर्ष 2006 में कैथल की रहने वाली मुकेश के साथ हुई थी। 3 साल पहले जब उसे अपनी पत्नी के किसी और के साथ अवैध संबंधों का पता चला तो वह नरवाना छोड़कर पत्नी व बच्चो के साथ रेवाड़ी आ गया और किराए पर कमरा लेकर रहने लगा।

6 माह पहले अवैध संबंधों के चलते उसने पहले से शादीशुदा 2 बच्चो के पिता एक पुलिसकर्मी के साथ आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली और अब उस पर भी दुष्कर्म का केस दर्ज करा दिया। इसके बाद वह रेवाड़ी आई उसके 7 वर्षीय बेटे को लेकर थाने पहुंच गई, जहाँ पुलिस ने भी मामले की जाँच किए बिना ही जज की भूमिका निभाते हुए बेटे को महिला के सुपुर्द करा दिया।

अब इसे लेकर वह स्थानीय पुलिस से एसपी तक न्याय की गुहार लगा चुका है, लेकिन शायद यहां उसकी सुनने वाला कोई नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *