हरियाणा की बेटियों के हौंसले बुलंद, कंडक्टर नियुक्ति से हैं बेहद खुश, कहा लड़कियां नहीं है लड़कों से कम

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष

Shweta Kushwaha, Yuva Haryana

Chandigarh, 8 Dec, 2018

हरियाणा रोजवेज ने नई भर्ती की लिस्ट जारी की है, जिसमें खास बात यह है कि कंडक्टरों में कई महिलाएं शामिल हैं। महिलाओं के आगे बढ़ने को लेकर यह एक अच्छा कदम है। प्रदेश में 8 महिलाएं कंडक्टरों के लिए नियुक्त की गईं हैं।

भिवानी के गांव हालुवास की प्रीती भिवानी की पहली महिला कंडक्टर बन गई हैं। एसडीएम द्वारा प्रीती को अब नियुक्ति पत्र भी सौंप दिया गया है। गांव हालुवास से 41 लड़कों में एक प्रीती ही महला कंडक्टर हैं, जिसे एसडीएम सतीश कुमार द्वारा नियुक्ति पत्र सौंपा गया है।

प्रीती का कहना है कि हम लड़कियां भी लड़कों से कम नहीं हैं और हर जगह आजकल लड़किया काफी आगे बढ़ रही हैं। ओलंपिक जैसे खेलों में भी लड़कियां सबसे आगे निकल गईं हैं।

तो वहीं जींद के गांव हैबतपुर की भतेरी देवी ने बताया कि उन्होंने MA, B.ed व NET, HTET, TGT क्वालिफाई किया हुआ है। उन्होंने स्कूल और घर पर बच्चों को पढ़ाया है। शादी के बाद से सिलाई भी कर रही है। भतेरी देवी ने बताया कि वह लेक्चरर के लिए ट्राई कर रही थी कि देवर ने कहा कि कंडक्टरों के फार्म भरे जा रहे हैं। जब भरा, तो मैरिट में उनका नाम आ गया। कंडक्टर लगने के बाद अब वह बेहद खुश है।

गांव मोरखी की कविता ने भी बताया कि रोडवेज में अब तक पुरुष वर्ग ही काम कर रहे थे, लेकिन अब महिलाओं के आने से आपसी बोलचाल में भी काफी बदलाव होगा। उसने बताया कि कंडक्टर के लिए कोचिंग ली थी और टेस्ट क्लीयर हो गया। कविता ने बीए की हुई है और वह इस उपलब्धि से बेहद खुश है।

जींद की राजरानी ने भी बताया कि वह सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रही थी और सोचा था कि जिसमें भी पहला नंबर पड़ जाएगा, वह ज्वाइन कर लेगी। सरकार नौकरी के लिए डेढ़ साल से कोचिंग ले रही है और अब कंडक्टर के लिए नियुक्ति अपने बल और मेहनत के आधार पर हुई है। इसके लिए किसी प्रकार की सिफारिश नहीं लगानी पड़ी। इस बात से काफी खुशी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *