एक और सुधार कार्यक्रम के डायरेक्टर रोकी मित्तल ने स्कूलो व कॉलेजो में किया रियलिटी चेक, महिला सुरक्षा के दावे पाए गए फेल

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति शख्सियत हरियाणा हरियाणा विशेष

Surinder Wadhawan, Yuva Haryaha

Guhla Cheeka, 3 Dec, 2018

हरियाणा सरकार द्वारा आए दिन महिला सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं, जिसके संसाधनों के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च कर दिए जाते हैं। लेकिन सरकार के यह दावे धरताल स्तर पर हवा हवाई होते नजर आ रहे हैं, जिसका उदाहरण आज गुला चीका में उस समय देखने को मिला, जब हरियाणा सरकार के एक और सुधार कार्यक्रम के डायरेक्टर रॉकी मित्तल स्कूल और कॉलेजों में महिला सुरक्षा के दावों का रियलिटी चेक करने पहुंचे।

रॉकी मित्तल ने स्कूल और कॉलेजों में पहुंचने पर लड़कियों से उनकी सुरक्षा के बारे में विचार-विमर्श किया और पुलिस की कार्यप्रणाली चेक करने के लिए पुलिस द्वारा महिला सुरक्षा के लिए दिए गए नंबरों पर फोन किया, तो किसी भी अधिकारी या कर्मचारी ने फोन नहीं उठाया। सबसे पहले 1091 नंबर पर फोन किया गया, वहां पर फोन बजता रहा, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया।

इसके बाद 100 नंबर पर फोन किया गया, वहां पर भी ऐसी स्थिति देखने को मिली। इसके बाद स्थानीय पुलिस स्टेशन के थाना प्रभारी का  नंबर मिलाया गया, उन्होंने भी फोन उठाने की जहमत नहीं उठाई। जिसके बाद डीएसपी गुहला को फोन लगाया गया साहब ने फोन उठाया और लड़की की आधी बात सुनकर ही फोन काट दिया ।

जब किसी भी पुलिस के अधिकारी और कर्मचारी ने फोन नहीं उठाया, तो एक और सुधार के डायरेक्टर रॉकी मित्तल चीका थाने पहुंच गए और वहां पर जब थाना प्रभारी से बात करना चाही, तो वह नहीं मिले। तब उन्होंने वहां पर मौजूद कर्मचारी आशीष से इस बारे बात की तो वह रेंज की प्रॉब्लम की सफाई  देते नजर आए। लेकिन उन्होंने भी यह माना कि दुर्गा शक्ति की गाड़ी कभी कभी ही गुहला चीका में आती है।

सुधार कार्यक्रम के डायरेक्टर रोकी मित्तल से जब इस बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए वचनबद्ध है । सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए दुर्गा शक्ति एप और अन्य महिला सुरक्षा के नंबर जारी किए गए हैं और समय समय पर सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए दिशा निर्देश जारी करती रहती है।

आज गुहला चीका में वह महिलाओं की सुरक्षा के लिए दिए गए नंबरों का रिजल्ट चेक करने पहुंचे थे, जहां पर सभी फेल पाए गए हैं और इस बारे में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और होमसेक्टरी को इस बारे अवगत कराएंगे। अब संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों पर कार्रवाई करवाएंगे।

जब इस बारे स्कूल की छात्राओं से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि उनके द्वारा आज जब अपनी सुरक्षा के लिए पुलिस द्वारा दिए गए नंबरों की जांच की गई, तो वह सभी नंबर फेल पाए गए और किसी भी अधिकारी और कर्मचारी ने फोन नहीं उठाया। छात्रों ने कहा कि अगर उनके साथ कोई अप्रिय घटना घटित होती है, तो यह फोन नंबर कैसे मिलेंगे ?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *