बहादुरगढ़ में बनेगा नया महिला पुलिस थाना, सीएम खट्टर ने दी मंजूरी

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें सरकार-प्रशासन हरियाणा हरियाणा विशेष
Sahab Ram, Yuva Haryana
Chandigarh, 30 Nov, 2018
महिलाओं के विरूद्ध आपराधिक घटनाओं पर अंकुश लगाने और महिलाओं तक पुलिस पहुंच सुनिश्चित करनेे के लिए हरियाणा सरकार ने जिला झज्जर के बहादुरगढ़ में एक और महिला पुलिस थाने की स्थापना करने का निर्णय लिया है। वर्तमान राज्य सरकार ने पहले ही प्रदेश के प्रत्येक जिले में पुलिस थाने स्थापित करने के साथ-साथ आठ सबडिविजनों में भी पुलिस थाने स्थापित किए हैं। 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा लगभग 3.04 करोड़ रुपये की वित्तीय लागत से अब बहादुरगढ़, जिला झज्जर में एक अन्य महिला पुलिस थाना स्थापित करने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई है।
एक सरकारी प्रवक्ता ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि महिलाओं के विरूद्ध अपराध के मामलों की संवेदनशीलता को देखते हुए वर्तमान राज्य सरकार ने पहले ही प्रदेश के प्रत्येक जिले में महिला पुलिस थाने खोले हैं और आठ उपमण्डल, जिनमें असंध, दादरी, हांसी, गोहाना, मानेसर, डबवाली, बल्लभगढ़ और नारायणगढ़ शामिल हैं, में भी महिला पुलिस थाने स्थापित किए हैं। इसी क्रम में बहादुरगढ़ में लगभग 3.04 करोड़ रुपये की वित्तीय लागत से एक नया महिला पुलिस थाना स्थापित किया जाएगा। इसमें पर्याप्त स्टाफ और मैनपावर का प्रावधान शामिल है।
उन्होंने कहा कि इन महिला पुलिस थानों की स्थापना से पीडि़त महिलाओं में सुरक्षा का भाव उत्पन्न होगा। वे सामान्य रूप से पुलिस थाने में पुरुष अधिकारी व कर्मचारी को अपराध की विस्तृत जानकारी देने से हिचकती हैं। इसके अतिरिक्त, महिलाओं के विरूद्ध अपराध से सम्बन्धित अधिनियमों में केवल महिला पुलिस अधिकारियों द्वारा ऐसे मामलों की रिपोर्ट करना अनिवार्य किया गया है।
इसके अतिरिक्त, कानून एवं व्यवस्था और वीआईपी कार्यक्रमों के दौरान महिलाओं की अत्यधिक भागीदारी के साथ महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती अनिवार्य होगी। महिला पुलिस थाना महिलाओं के विरूद्ध विभिन्न आपराधिक मामलों जैसे दहेज हत्या, कन्या भ्रूण हत्या, छेड़छाड़, यौन उत्पीडऩ, अपहरण, दुष्कर्म, दहेज प्रताडऩा, अवैध द्वितीय विवाह करना और आत्म हत्या इत्यादि के मामलों में महिला पुलिस थानों द्वारा ही जांच की जाएगी।
यहां यह उल्लेख करना उचित होगा कि प्रदेश के महिला पुलिस थानों के बनने के उपरांत महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों में काफी हद तक कमी आई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *