केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह का बयान, युवाओं को उम्मीद के मुताबिक नौकरियां नहीं

Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें राजनीति सरकार-प्रशासन हरियाणा
Yuva Haryana
Bhiwani, 26 June, 2018
 भिवानी के गांव प्रेमनगर पहुंचे केन्द्रीय मंत्री बिरेन्द्र सिंह ने दावा किया कि आने वाले दो-तीन माह में पीएम मोदी किसानों के लिए खजाना खेलने वाले हैं। साथ ही उन्होने कहा कि ग्रामीण युवाओं को खेती के साथ छोटे बङे उद्योगों की तरफ ध्यान देना चाहिए। क्योंकि आज हरियाणा में उम्मीद के मुताबिक सरकारी नौकरियां नहीं हैं। वहीं बिरेन्द्र सिंह ने गेहूं का समर्थन मूल्य कर्मचारियों की बढते वेतन के मुताबिक 6 हजार रुपये प्रति क्विंटल करने की मांग की।
बता दें कि चौधरी बिरेन्द्र सिंह अपनी पत्नी विधायक प्रेम लता व भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष जेपी दलाल के साथ गांव प्रेम नगर पहुंचे थे। यहां उन्होने किसानों के मशीहा कहे जाने वाले रहबरे आजम दिनबंधु सर छोटूराम की प्रतिमा का अनावरण किया। वहीं जिला परिषद चेयरमैन रमेश ओला ने छोटूराम की प्रतिमा के इस चबुतरे के शोंदर्यकरण के लिए 15 लाख रुपये देने की घोषणा की।

इस अवसर पर अपने संबोधन में बिरेन्द्र सिंह ने कहा कि छोटूराम ने आजादी से पहले संयुक्त पंजाब की 85 लाख एकङ भूमी को साहूकारों से कानून बना कर छुङवाई थी। उन्होने कहा कि साहूकारों के चुंगल से इतनी जमीन छुङवाना खुन की क्रांति थी, लेकिन छोटूराम ने कानून के माध्यम से इसे शांति क्रांति बना कर छुङवाया।
उन्होने कहा कि आज हरियाणा में जरूरत के अनुसार रोजगार नहीं हैं, इसलिए युवाओं को खेती के साथ छोटे बङे उद्योगों से जुङना चाहिए और सरकार की मुद्रा योजना का लाभ उठाना चाहिए। उन्होने कहा कि आजादी के बाद कर्मचारियों के बढते वेतन अनुसार आज गेहूं का समर्थन मूल्य 6 हजार रुपये प्रति क्विंटल होना चाहिए। बिरेन्द्र सिंह ने दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो-तीन माह में किसानों के लिए खजाना खोलने वाले हैं।
मीडिया से रूबरू होते हुए केन्द्रीय मंत्री बिरेन्द्र सिंह ने कहा कि हरियाणा में लोगों की उम्मीद के मुताबिक सरकारी नौकरी नहीं हैं। उन्होने कहा कि अब नौकरी कर रहे सभी तीन लाख कर्मचारियों को हटा कर भी नए युवाओं को नौकरी पर रखें तो भी 27 लाख युवा लाईन में रहेंगें। ऐसे में छोटे-बङे उद्योगों के माध्यम से ग्रामीण बच्चों को आगे लाकर आर्थिक व्यवस्था में आमूल चूक परिवर्तन किया जा सकता है। बिरेन्द्र सिंह ने कहा कि बैंक वालों को चाहिए कि खेती छोङ कर नई सोच रखने वाले गांव को युवाओं को मौका दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *