हरियाणा में 52 साल बाद पोते ने लिया दादा की हत्या का बदला, दिल दहला देगी ये वारदात

Yuva Haryana, 22 January, 2021

हरियाणा के रोहतक के गांव मकड़ौली कलां में एक खौफनाक वारदात सामने आई है। जिसमें 52 साल पहले हुई दादा की हत्या का बदला लेने के लिए 28 साल के पोते ने 76 वर्षीय पड़ोसी रिटायर्ड फौजी की पेट में तलवार घोंपकर हत्या कर दी। इस बीच घर में खाना बना रही पूर्व फौजी की पुत्रवधू बचाने दौड़ी तो उस पर भी हमले की कोशिश कर आरोपी मौके से फरार हो गया।

बाद में पुलिस ने एसपी राहुल शर्मा के दिशा निर्देश में कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आज पुलिस आरोपी को कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। सदर थाना पुलिस को दी शिकायत में वीरेंद्र की पत्नी मीना ने बताया कि वह मकड़ौली कलां गांव की रहने वाली है।

मीना ने बताया कि कल सुबह वह घर पर खाना बना रही थी। उसका ससुर पूर्व फौजी नवल सिंह (76) घर के आंगन में बैठकर खाना खा रहा था। पति वीरेंद्र किसी काम से  बाहर गया था। उसी समय घर में पड़ोसी संदीप उर्फ गोला आया और वीरेंद्र के बारे में पूछने लगा। जिस पर मीना ने पति के बाहर जाने की बात कही। यह सुनकर संदीप चला गया। कुछ देर बाद घर के अंदर तलवार लेकर आया। मीना रसोई के पास खड़ी थी। मीना के देखते देखते संदीप ने अपने हाथ में ली तलवार से ससुर नवल सिंह पर हमला कर दिया। संदीप ने नवल सिंह के पेट में तलवार घोंप दी। इसके बाद फिर से संदीप ने तलवार से और वार करने की कोशिश की जिस पर मीना चिल्ला उठी और संदीप को पकड़ने की कोशिश की।


इस दौरान संदीप ने मीना पर भी तलवार से जानलेवा हमला करने की कोशिश की। इस बीच मीना ने तलवार पकड़ ली, जिससे तलवार मौके पर ही गिर गई। आरोपी मीना, उसके पति और बेटे को जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गया। खून से लथपथ हालत में नवल सिंह को पड़ोसी राजबीर और रविंद्र की सहायता से इलाज के लिए पीजीआई लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस के अनुसार 52 साल पहले आरोपी संदीप के दादा श्रीलाल की हत्या किसी विवाद के चलते मृतक नवल सिंह व उसके परिवार के सदस्यों ने की थी जिस मामले में सभी जेल भी गए थे।

मगर बाद में गांव में पंचायती तौर पर फैसला होने के बाद आरोपी कोर्ट से बरी हो गए थे। श्रीलाल की हत्या होने के ढाई माह बाद संदीप के पिता पैदा हुए थे। बाद में कुछ समय बाद दोनों परिवारों के बीच आना-जाना भी शुरू हो गया था। डीएसपी सदर सज्जन कुमार ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी संदीप ने बताया कि वह शादीशुदा है व एक बेटी का पिता है। वह पेशे से किसान है।

गांव में अक्सर उसके दादा श्रीलाल की हत्या होने चर्चा होती थी। इसी बात से वह बहुत परेशान था। हालांकि दोनों परिवारों के अब पड़ोसी संबंध अच्छे थे। मगर अक्सर होने वाली चर्चा से उसने बदला लेने का फैसला किया था। जिसके चलते उसके पास पहले से रखी एक तलवार को उसने कई दिनों से ही धार लगाना शुरू किया था।

एसपी राहुल शर्मा के दिशा-निर्देशों पर डीएसपी सज्जन कुमार व प्रभारी थाना सदर निरीक्षक शमशेर सिंह व प्रभारी सीआईए-2 एसआई नरेश कुमार की सयुंक्त टीम ने एएसआई सतीश कादयान के नेतृत्व में दबिश देते हुए वारदात के पांच घंटों के भीतर ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार आरोपी दिल्ली की ओर फरार होने की फिराक में था, जिसे जींद के एरिया से गिरफ्तार किया है।

 

Scroll to Top