14.5 C
Haryana
Tuesday, January 19, 2021

कई महीने से आंदोलन कर रहे हरियाणा के किसान, हैरान-अपमान करने वाले है मुख्यमंत्री के बयान- हुड्डा

Must read

हरियाणा पुलिस कर्मचारियों के बड़े स्तर पर तबादले, यहां देखें पूरी लिस्ट

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा बड़े स्तर पर  पुलिस कर्मचारियों के तबादले किए गए हैं। यहां देखिए पूरी लिस्ट

PNB ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, 1 फरवरी से इन ATM से नहीं निकाल पाएंगे पैसे, जानिए वजह ?

Yuva Haryana, 19 January, 2021 अगर आपका भी खाता पीएनबी में है तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। बता दें कि देशभर में...

हरियाणा में पंचायत चुनाव को लेकर हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को जारी किया ये नोटिस, जानिए

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा में पंचायत चुनाव को लेकर बडी खबर सामने आ रही है। आपको बता दें कि पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में...

जरूरी सूचना: हरियाणा पुलिस कांस्टेबल भर्ती के लिए आवेदन करते समय जमा करवाना होगा ये जरूरी दस्तावेज, देखिए

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने 7 हजार से ज्यादा पदों पर पुलिस कांस्टेबल की भर्ती निकाली है। इस भर्ती के...

Share this News
38Shares

Yuva Haryana, 29 November, 2020

पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मुख्यमंत्री खट्टर के उस बयान पर हैरानी जताई है जिसमें मुख्यमंत्री ने कहा था इस आंदोलन में हरियाणा के किसान शामिल नहीं है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि तीन कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ हरियाणा के किसान कई महीने से आंदोलनरत हैं। वो बार-बार सरकार से इन क़ानूनों को वापस लेने या एमएसपी का क़ानून बनाने की गुहार लगा चुके हैं।

मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि क्या वो आंदोलनकारी किसानों को हरियाणा वासी नहीं मानते? अगर हरियाणा के किसान आंदोलन का हिस्सा नहीं है तो पिपली में सरकार ने किन लोगों पर लाठीचार्ज करवाया था? वो कौन लोग हैं जिन्हें हरियाणा पुलिस ने दिल्ली कूच से पहले हिरासत में लिया था? वो हज़ारों किसान कहां के रहने वाले हैं जिन पर हरियाणा सरकार ने मुक़दमे दर्ज किए हैं?

हुड्डा ने कहा कि इतने बड़े आंदोलन के प्रति मुख्यमंत्री की ऐसी अनदेखी हैरान और अन्नदाता का अपमान करने वाली है सरकार को पता होना चाहिए कि इस आंदोलन में हरियाणा और पंजाब के किसान कंधे से कंधा मिलाकर एक साथ खड़े हुए हैं। यूपी, राजस्थान और अन्य राज्यों के किसानों का भी उन्हें समर्थन मिल रहा है। एक जिम्मेदार विपक्ष के तौर पर हम किसानों की मांगों का पूर्ण समर्थन करते हैं। जब तक किसानों ये लड़ाई जीत नहीं जाते, हम किसानों की मांगों के साथ मजबूती से खड़े हैं।

हुड्डा ने कहा कि सरकार की तरफ से आंदोलन को कुचलने के लिए जो रवैया अपनाया गया, वह पूरी तरह अलोकतांत्रिक है। क्योंकि, लोकतंत्र में हर नागरिक और हर वर्ग को अपनी जायज़ मांगों के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का अधिकार है। अब तक किसानों का पूरा आंदोलन शांतिपूर्ण रहा है, लेकिन पूरे आंदोलन में हरियाणा सरकार की भूमिका नकारात्मक रही है। सरकार का काम जाम खुलवाना होता है, जाम लगाना नहीं। सरकार का काम सड़के बनवाना होता है, सड़कें खुदवाना नहीं। लेकिन सरकार ने किसानों को रोकने के लिए सड़कों को जाम भी किया और सड़कों को खुदवाया भी।

हरियाणा को पूरे देश में बेरोजगारी, अपराध और नशे के मामले नंबर वन बनाने के बाद, यह सरकार किसान विरोध में भी पहले नंबर पर पहुंच गई है। क्योंकि आंदोलन कर रहे किसानों को न पंजाब में किसी तरह के अवरोध का सामना करना पड़ा और न ही दिल्ली सरकार की तरफ से किसी तरह का अवरोध पैदा किया गया। शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे हजारों किसानों पर एक साथ मुकदमे दर्ज करवा कर बीजेपी जेजेपी ने बता दिया है कि वह पूरी तरह किसान विरोधी सरकार है। इन लोगों को किसान से ज्यादा कुर्सी प्यारी है।

नेता प्रतिपक्ष ने सरकार को नसीहत दी कि वो इतने बड़े जन आंदोलन की अनदेखी करने की बजाए, इसकी सुनवाई करे। किसानों की मांग के मुताबिक उन्हें एमएसपी की गारंटी दी जाए। इसके लिए चाहे मौजूदा क़ानूनों में संशोधन करना पड़े या नया क़ानून बनाना पड़े। ऐसा लगता है कि ये सरकार पूरी तरह किसानों का भरोसा खो चुकी है। इसलिए किसानों को अब सरकार के ज़ुबानी आश्वासन पर विश्वास नहीं है। किसान चाहते हैं कि उन्हें क़ानून की शक्ल में एमएसपी की गारंटी दी जाए। इतना ही नहीं सरकार को तुरंत प्रभाव से किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने चाहिए और हिरासत में लिए गए किसान नेताओं को रिहा करना चाहिए।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने एक बार फिर तमाम हरियाणावासियों से अपील की कि पंजाब और हरियाणा के अलग-अलग इलाकों से पहुंच रहे किसानों को कोई समस्या पेश नहीं आनी चाहिए। जो व्यवस्था हो सके करनी चाहिए। हुड्डा ने आगाह करते हुए कहा कि सरकार को 3 दिसंबर का इंतज़ार किए बिना फौरन इन किसानों से बातचीत करनी चाहिए नहीं तो ये आंदोलन इससे भी कई गुना बढ़ सकता है इसलिए सरकार को जल्द किसानों की मांगो का समाधान निकालना चाहिए।


Share this News
38Shares

More articles

Latest article

हरियाणा पुलिस कर्मचारियों के बड़े स्तर पर तबादले, यहां देखें पूरी लिस्ट

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा बड़े स्तर पर  पुलिस कर्मचारियों के तबादले किए गए हैं। यहां देखिए पूरी लिस्ट

PNB ग्राहकों के लिए बड़ी खबर, 1 फरवरी से इन ATM से नहीं निकाल पाएंगे पैसे, जानिए वजह ?

Yuva Haryana, 19 January, 2021 अगर आपका भी खाता पीएनबी में है तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। बता दें कि देशभर में...

हरियाणा में पंचायत चुनाव को लेकर हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को जारी किया ये नोटिस, जानिए

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा में पंचायत चुनाव को लेकर बडी खबर सामने आ रही है। आपको बता दें कि पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में...

जरूरी सूचना: हरियाणा पुलिस कांस्टेबल भर्ती के लिए आवेदन करते समय जमा करवाना होगा ये जरूरी दस्तावेज, देखिए

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने 7 हजार से ज्यादा पदों पर पुलिस कांस्टेबल की भर्ती निकाली है। इस भर्ती के...

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नाम से जाना जाएगा ये कॉलेज, सीएम मनोहर लाल ने दी मंजूरी

Yuva Haryana, 19 January, 2021 हरियाणा के परिवहन तथा खान एवं भूविज्ञान मंत्री मूलचंद शर्मा ने  ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ के नारे को आगे बढ़ाते हुए...