Breaking चर्चा में देश बड़ी ख़बरें राजनीति हरियाणा हरियाणा विशेष

आंदोलन में फूट: राकेश टिकैत समेत 37 किसान नेताओं पर एफआईआर, दो संगठन आंदोलन से पीछे हटे

Yuva Haryana, 28 January, 2021

गणतंत्र दिवस पर आयोजित किसानों की ट्रैक्टर रैली के नाम पर हुई हिंसा के बाद किसान नेताओं की मुश्किलें बढ़ गई हैं। राजधानी में हुई हिंसा के बाद एक्शन मोड में आई दिल्ली पुलिस ने कई नेताओं पर एफआईआर दर्ज की है।

इनमें राकेश टिकैत, डाॅ दर्शनपाल, जोगिंदर सिंह, बूटा, बलवीर सिंह राजेवाल और राजेंद्र सिंह के नाम शामिल हैं। समयपुर बादली में दर्ज एफआईआर नंबर 39 में नर्मदा बचाओ आंदोलन की मेधा पाटकर और स्वराज इंडिया के योगेंद्र यादव का नाम भी शामिल है।

दिल्ली पुलिस ने अपने एफआईआर में आपराधिक षड़यंत्र, डकैती और घातक हथियारों के प्रयोग और हत्या के प्रयास जैसी गंभीर धाराएं लगाई हैं। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने टैक्टर रैली में हुई हिंसा मामले में 200 लोगों को हिरासत में लिया है। दिल्ली पुलिस ने जल्द ही और लोगों की गिरफ्तारी की बात कही है।

इन 37 किसान नेताओं पर एफआईआर

1. डॉक्टर दर्शन पाल, बीकेयू क्रांतिकारी दर्शनपाल ग्रुप
2. कुलवंत सिंह संधू, जम्हूरी किसान सभा पंजाब
3. बूटा सिंह बुर्जगिल, भारतीय किसान सभा, धकोंडा
4. निर्भय सिंह धुड़ीके, कीर्ति किसान यूनियन, धुड़ीके ग्रुप
5. रुल्दू सिंह, पंजाब किसान यनियन, रुल्दू ग्रुप
6. इंदरजीत सिंह, किसान संघर्ष कमेटी, कोट बुद्धा ग्रुप
7. हरजिंदर सिंह टांडा, आजाद किसान संघर्ष कमेटी
8. गुरबख्श सिंह, जय किसान आंदोलन
9. सतनाम सिंह पन्नू, किसान मजदूर संघर्ष समिति, पिड्डी ग्रुप
10. कंवलप्रीत सिंह पन्नू, किसान संघर्ष कमेटी पंजाब
11. जोगिंदर सिंह उग्राहा, भारतीय किसान यूनियन उग्राहां
12. सुरजीत सिंह फूल, भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी
13. जगजीत सिंह डालेवाल, भारतीय किसान यूनियन, सिद्धूपुर
14. हरमीत सिंह कड़ियां, बीकेयू, कड़ियां
15. बलबीर सिंह राजेवाल, भारतीय किसान यूनियन राजेवाल
16. सतनाम सिंह साहनी, भारतीय किसान यूनियन, दोआबा
17. बोघ सिंह मानसा, भारतीय किसान यूनियन मानसा
18. बलविंदर सिंह औलख, माझा किसान कमेटी
19. सतनाम सिंह बेहरू, इंडियन फार्मर एसोसिएशन
20. बूटा सिंह शादीपुर, भारतीय किसान मंच
21. बलदेव सिंह सिरसा, लोक भलाई इंसाफ वेलफेयर सोसायटी
22. जगबीर सिंह जाड़ा, दोआबा किसान समिति
23. मुकेश चंद्रा, दोआबा किसान संघर्ष कमेटी
24. सुखपाल सिंह डफ्फर, गन्ना संघर्ष कमेटी
25. हरपाल सिंह सांघा, आजाद किसान कमेटी दोआब
26. कृपाल सिंह नाथूवाला, किसान बचाओ मोर्चा
27. हरिंदर सिंह लाखोवाल, भारतीय किसान यूनियन लाखोवाल
28. प्रेम सिंह भंगू, कुलहिंद किसन फेडरेशन
29. गुरनाम सिंह चडूनी, भारतीय किसान यूनियन चडूनी
30. राकेश टिकैट, भारतीय किसान यूनियन
31. कविता कुमगुटी, महिला किसान अधिकार मंच
32. रिषिपाल अंबावाटा, भारतीय किसान यूनियन अंबावाटा
33. वीएम सिंह, ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमेटी
34. मेधा पाटेकर, नर्मदा बचाओ
35. योगेंद्र यादव, स्वराज इंडिया
36. अवीक साहा, जन किसान आंदोलन, स्वराज इंडिया
37. प्रेम सिंह गहलोत, ऑल इंडिया किसान सभा

वहीं दूसरी तरफ इस हिंसा व लाल किले पर हुड़दंग का असर आंदोलन पर भी पड़ रहा है। बात दें कि ट्रैक्टर रैली में हिंसा के बाद बुधवार को किसान नेताओं के बीच दरार पड़ गई। पहले राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के अध्यक्ष वीएम सिंह ने आंदोलन से पीछे हटने का ऐलान किया। इसके बाद भारतीय किसान यूनियन (BKU) के अध्यक्ष ठाकुर भानु प्रताप सिंह ने आंदोलन से अलग होने की घोषणा कर दी।

राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के अध्यक्ष वीएम सिंह

किसान मजदूर संगठन के अध्यक्ष वीएम सिंह ने BKU के प्रवक्ता राकेश टिकैत को लेकर कहा, ‘मैं किसी ऐसे व्यक्ति के साथ विरोध नहीं कर सकता, जिसकी दिशा अलग है। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं, लेकिन वीएम सिंह और राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन विरोध से पीछे हट रहे हैं।’ BKU के नेता भानु प्रताप सिंह ने कहा, ‘कल (26 जनवरी) दिल्ली में जो कुछ भी हुआ उससे मैं बहुत आहत हूं और हमारे 58 दिनों के विरोध को समाप्त कर रहा हूं।’

ये भी पढ़िये >>

कल से दुष्यंत के चुनावी सफर में उतरेंगी विधायक नैना चौटाला, अपने मायके से करेंगी चुनाव प्रचार का आगाज

Yuva Haryana

इन किसानों को नहीं मिलेगी 6 हजार की सहायता राशि, जानिये क्या है वजह ?

Yuva Haryana

Deputy CM दुष्यंत चौटाला के अधिकारियों को बड़े आदेश, रिहायशी क्षेत्र के अलावा दूसरी सम्पति का भी हो सर्वे

Yuva Haryana

महात्मा गांधी की गिरफ्तारी की याद में पलवल रेलवे स्टेशन को हैरिटेज स्टेशन बनाया जाए, प्रधानमंत्री से मुख्यमंत्री की मांग

Yuva Haryana