31.3 C
Haryana
Tuesday, October 27, 2020

किसानी के क्षेत्र में अनूठी पहल, हरियाणा में मोती की खेती भी शुरू

Must read

Containment Zone में 30 नवंबर तक जारी रहेगा Lockdown, Interstate Travel पर नहीं रोक

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 दुनियाभर में तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस ने हर किसी की जिन्दगी को जैसे थमा दिया हो। लॉकडाउन में...

आज से बदल गया रसोई गैस सिलेंडर बुक करवाने का नंबर, यहां पढ़ें पूरी जानकारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 अगर आप भी फोन से गैस सिलेंडर की बुकिंग करवाते हैं, तो ये जानकारी आपके लिए बेहद जरूरी है।...

Haryana में दो SDO और 2 JE समेत कुल 8 अधिकारी हुए सस्पेंड

Yuva Haryana News Fatehabad, 27 Oct, 2020 फतेहाबाद के टोहाना डिविजन में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम प्रबंधन की ओर से डार्क जोन में 89 ट्यूबवेल...

हरियाणा की गठबंधन सरकार ने एक साल पूरा होने पर प्रदेशवासियों को दी बड़ी सौगात, जानिये क्या-क्या है शामिल-

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का उपलब्धियों भरा एक वर्ष पूरा होने...

Share this News
0Shares

Yuva Haryana

Rohtak, (26 March 2018)

गुरुग्राम के जमालपुर गांव के सुरेश ने हरियाणा में सिप से मोती की खेती की अनूठी पहल शुरू की है। इसे किसानी की श्रृंखला का हुनर ही माने कि सीप से मोती पैदा कर भी मोटा मुनाफा कमाया जा सकता है।

हरियाणा के रोहतक में आयोजित किए जा रहे तृतीय कृषि शिखर नेतृत्व सम्मेलन में सीप से मोती पैदा करने की खेती का अंदाज नज़र आया। हुनर के इस काम में जुटे सुरेश कुमार ने बताया कि इसे आप खुद भी सीख सकते हैं।

सुरेश ने करीब दो साल पहले ही सीप से मोती की पैदावार लेना शुरू किया और एक साल में विशुद्ध मुनाफा करीब चार लाख रुपए सलाना मिलने लगा है। मोतियों की कीमत भी उसकी गुणवता के हिसाब से तय होती है। एक-एक मोती की कीमत बाजार में दो सौ रुपए या इससे अधिक मिलती है। एक सीप में दो मोती होते हैं।

सुरेश ने बताया कि उन्होंने भुवनेश्र्वर में स्थित सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ फ्रेश वाटर एक्वाकल्चर से प्रशिक्षण के उपरांत यह काम शुरू किया। खास बात यह है कि इस काम के लिए कोई लंबे चौड़े रकबे की भी जरूरत नहीं है।

करीब एक हजार सीप के लिए दस बाईस के तालाब में इस काम को शुरू किया जा सकता है। आठ से दस रुपए की सीप खरीदी जाती है और तालाब में मोती के लिए सर्जरी की जाती है। फिर होती है दस से बारह महीने का इंतजार और एक खरा और सुच्चा मोती सीप के अंदर होता है।

सुरेश कहते हैं कि असली मोतियों की भारी मांग है। इस से कम समय में अधिक लाभ की पूरी संभावना है। चाहे तो महिलाएं भी अतिरिक्त समय निकाल कर इस काम को कर सकती हैं। पार्ट टाइम में ही थोड़ी जगह में मोती पैदावार संभव है।


Share this News
0Shares

More articles

Latest article

Containment Zone में 30 नवंबर तक जारी रहेगा Lockdown, Interstate Travel पर नहीं रोक

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 दुनियाभर में तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस ने हर किसी की जिन्दगी को जैसे थमा दिया हो। लॉकडाउन में...

आज से बदल गया रसोई गैस सिलेंडर बुक करवाने का नंबर, यहां पढ़ें पूरी जानकारी

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 अगर आप भी फोन से गैस सिलेंडर की बुकिंग करवाते हैं, तो ये जानकारी आपके लिए बेहद जरूरी है।...

Haryana में दो SDO और 2 JE समेत कुल 8 अधिकारी हुए सस्पेंड

Yuva Haryana News Fatehabad, 27 Oct, 2020 फतेहाबाद के टोहाना डिविजन में दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम प्रबंधन की ओर से डार्क जोन में 89 ट्यूबवेल...

हरियाणा की गठबंधन सरकार ने एक साल पूरा होने पर प्रदेशवासियों को दी बड़ी सौगात, जानिये क्या-क्या है शामिल-

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल का उपलब्धियों भरा एक वर्ष पूरा होने...

Haryana Police की वरिष्ठता लिस्ट में जाति का निकला जिक्र, तो हाईकोर्ट पहुंच गया मामला

Yuva Haryana News Chandigarh, 27 Oct, 2020 हाईकोर्ट में हरियाणा पुलिस की तरफ से वरिष्ठता सूची तैयार करने के लिए निर्धारित प्रोफार्मा में अपने कर्मचारियों की...