19.8 C
Haryana
Tuesday, December 1, 2020

Haryana में मेयर, नगर निगम, नगरपालिका के चुनाव लड़ने वालों के लिए बड़ी खबर, किया गया ये बदलाव

Must read

हरियाणा में अगले पांच दिन कैसा रहेगा मौसम का मिजाज, देखिए मौसम विभाग का पूर्वानुमान

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा राज्य में 6 दिसम्बर तक मौसम आमतौर पर खुश्क रहने की संभावना है। अगले तीन दिन राज्य में उत्तर...

हरियाणा में आज कोरोना के 1871 नये केस, देखिए जिलेवार मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के आकंड़ों के मुताबिक आज प्रदेश में 1871 नये कोरोना...

जेजेपी ने नगर निगम चुनाव के लिए कसी कमर, बनाई तीन सदस्यीय कमेटी, देखिए

Yuva Haryana, 01 December, 2020 जननायक जनता पार्टी ने तीन शहरों में होने वाले नगर निगम चुनावों के लिए कमर कस ली है। पार्टी के...

किसान आंदोलन: हरियाणा पुलिस ने जारी की Traffic Advisory, देखिए

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा पुलिस ने किसान संगठनों द्वारा कृषि कानूनों को लेकर किए जा रहे धरना-प्रदर्शन के मद्देजनर सोनीपत व झज्जर जिलों...

Share this News
38Shares

Yuva Haryana News

Chandigarh, 11 Nov, 2020

हरियाणा राज्य निर्वाचन आयोग ने मेयर, नगर निगम सदस्यों, नगर परिषद व नगरपालिका सदस्यों के लिए चुनाव खर्च की सीमा में संशोधन करते हुए खर्च सीमा में बढ़ोतरी की है। अब मेयर के लिए अधिकतम चुनाव खर्च सीमा 22 लाख रुपये होगी, जोकि पहले 20 लाख रुपये थी। इसी प्रकार, नगर निगम सदस्यों के लिए 5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5.50 लाख रुपये, नगर परिषद के सदस्यों के लिए 3 लाख रुपये से बढ़ाकर 3.30 लाख रुपये और नगरपालिका सदस्यों के लिए 2 लाख रुपये से बढ़ाकर 2.25 लाख रुपये कर दी है।

राज्य निर्वाचन आयोग के एक प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि आयोग ने यह भी निर्देश दिए हैं कि नगर निगम, नगर परिषद और नगरपालिका चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार या उनके चुनाव एजेंट द्वारा चुनाव खर्च का ब्यौरा रखना होगा और परिणाम घोषित होने से 30 दिनों के अंदर खर्च का ब्यौरा जिला उपायुक्त के पास जमा कराना होगा। इसके अलावा, यह भी निर्देश दिए गए हैं कि यदि कोई उम्मीदवार निर्धारित समया‌वधि में चुनाव खर्च का ब्यौरा पेश करने में असफल होता है तो आयोग उसे अयोग्य घोषित कर सकता है और उम्मीदवार आदेश जारी होने की तिथि से 5 साल तक के लिए आयोग्य घोषित रह सकता है।

उम्मीदवार स्वयं या उसके अधिकृत चुनाव एजेंट द्वारा नामांकन पत्र भरने से लेकर चुनाव परिणाम घोषित होने वाले दिन तक चुनाव से संबंधित सभी खर्चों के लिए अलग से खाता रखना होगा। कुल खर्च उपरोक्त सीमा से अधिक नहीं होना चाहिए।

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार या उसके चुनाव एजेंट द्वारा उपरोक्त सीमा से अधिक खर्च करने के मामले में किसी भी प्रकार के उल्लंघन को गंभीरता से लिया जाएगा और उल्लंघन करने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

 

 


Share this News
38Shares

More articles

Latest article

हरियाणा में अगले पांच दिन कैसा रहेगा मौसम का मिजाज, देखिए मौसम विभाग का पूर्वानुमान

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा राज्य में 6 दिसम्बर तक मौसम आमतौर पर खुश्क रहने की संभावना है। अगले तीन दिन राज्य में उत्तर...

हरियाणा में आज कोरोना के 1871 नये केस, देखिए जिलेवार मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के आकंड़ों के मुताबिक आज प्रदेश में 1871 नये कोरोना...

जेजेपी ने नगर निगम चुनाव के लिए कसी कमर, बनाई तीन सदस्यीय कमेटी, देखिए

Yuva Haryana, 01 December, 2020 जननायक जनता पार्टी ने तीन शहरों में होने वाले नगर निगम चुनावों के लिए कमर कस ली है। पार्टी के...

किसान आंदोलन: हरियाणा पुलिस ने जारी की Traffic Advisory, देखिए

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा पुलिस ने किसान संगठनों द्वारा कृषि कानूनों को लेकर किए जा रहे धरना-प्रदर्शन के मद्देजनर सोनीपत व झज्जर जिलों...

केंद्रीय राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया के बिगड़े बोल, कहा- काले झंडे ही दिखाने थे तो कही और मर लेते

Yuva Haryana, 01 December, 2020 अंबाला में रेलवे अंडरब्रिज का शिलान्यास करने पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने आज किसानों को लेकर बड़ा विवादित...