19.6 C
Haryana
Friday, December 4, 2020

हरियाणा में खेल कोटे से हुई भर्तियों के इन कर्मचारियों की नौकरी पर फंसा पेंच, रिपोर्ट मांगी

Must read

किसानों के लिए चौधरी देवीलाल ने प्रधानमंत्री का पद छोड़ा मेरे लिए विधायकी कोई बड़ी बात नहीं: अभय चौटाला

Yuva Haryana, 04 December, 2020 मैं स्वयं धरना स्थलों पर जाकर आंदोलन का संचालन करने वालेे किसान संगठन के नेताओं से मिलूंगा और समर्थन देने...

हरियाणा सरकार ने IAS Sunil Gulati को Special Chief Secretary किया नियुक्त, देखें आदेश

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा सरकार ने आईएएस अधिकारी सुनील कुमार गुलाटी को तुरंत प्रभाव से हरियाणा सरकार के विशेष मुख्य सचिव के रूप...

हरियाणा में आज कोरोना के 1602 नये केस, देखिए मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के आकंड़ों के मुताबिक आज प्रदेश में 1602 नये कोरोना...

हरियाणा के कृषि मंत्री को मिली गोली मारने की धमकी, केस दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल को गोली मारने की धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज हुआ है। धमकी...

Share this News
15Shares

Yuva Haryana News

Chandigarh, 28 Oct, 2020

हाईकोर्ट में हरियाणा के तकरीखेल कोटे से हुई भर्तियों का मामला जाने के बाद सरकार ने उन सभी कर्मचारियों की पूरी रिपोर्ट मांगी है, जो नई और पुरानी स्पोर्ट्स पॉलिसी के ग्रेडेशन सर्टिफिकेट से भर्ती हुए हैं, क्योंकि इन्हीं पॉलिसी के पेच में ग्रुप-डी में चयनित हुए करीब एक हजार युवाओं की नौकरी फंस गई है।

अब सरकार ने जो सभी विभागों से जानकारी मांगी है, उसमें कर्मचारी का नाम, उसकी शैक्षणिक योग्यता, प्रतियोगिता का स्तर, वह किस पोस्ट पर काम कर रहा है, नियमानुसार उस पद की शैक्षणिक योग्यता क्या है, किस पॉलिसी में के तहत कर्मचारी भर्ती हुआ, ग्रुप कौनसा है, किस तारीख को भर्ती हुआ आदि शामिल है।

बता दें कि सरकार ने जो भर्ती की, उस विज्ञापन में ग्रेडेशन सर्टिफिकेट मांगा था। खिलाड़ियों ने आवेदन किया था, उसमें नई और पुरानी पॉलिसी से ग्रेडेशन सर्टिफिकेट लेने वाले सभी ने आवेदन किया और आरक्षित 1518 पदों पर भर्ती हो गई। इनमें करीब 500 ने जॉइनिंग भी कर ली थी, लेकिन तभी नई पॉलिसी के ग्रेडेशन सर्टिफिकेट का हवाला देकर नियुक्तियां रोक दी गईं। राज्य में मई, 2018 में नई पॉलिसी लागू हुई थी, जबकि इससे पहले 1993 की पॉलिसी लागू थी।

ऐसे में खिलाड़ियों का तर्क था कि जब पॉलिसी ही पुरानी लागू थी तो उसके अनुसार सर्टिफिकेट बनेंगे। अभी फिलहाल कोर्ट ने भी खिलाड़ियों को नई पॉलिसी में ग्रेडेशन सर्टिफिकेट बनाने का समय याचिका दाखिल करने वालों को दिया है। इस बीच सरकार ने भर्ती हुए खिलाड़ियों की सूचना मांग ली है।

कयास लगाए जा रहे हैं कि सरकार खिलाड़ियों को कोई राहत दे सकती है। नई खेल पॉलिसी में सरकार ने खिलाड़ियों को मेडल अनुसार ग्रुप-डी से लेकर एचसीएस और एचपीएस तक का प्रावधान किया था। लेकिन यह मामला भी हाईकोर्ट में फंसा है।


Share this News
15Shares

More articles

Latest article

किसानों के लिए चौधरी देवीलाल ने प्रधानमंत्री का पद छोड़ा मेरे लिए विधायकी कोई बड़ी बात नहीं: अभय चौटाला

Yuva Haryana, 04 December, 2020 मैं स्वयं धरना स्थलों पर जाकर आंदोलन का संचालन करने वालेे किसान संगठन के नेताओं से मिलूंगा और समर्थन देने...

हरियाणा सरकार ने IAS Sunil Gulati को Special Chief Secretary किया नियुक्त, देखें आदेश

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा सरकार ने आईएएस अधिकारी सुनील कुमार गुलाटी को तुरंत प्रभाव से हरियाणा सरकार के विशेष मुख्य सचिव के रूप...

हरियाणा में आज कोरोना के 1602 नये केस, देखिए मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के आकंड़ों के मुताबिक आज प्रदेश में 1602 नये कोरोना...

हरियाणा के कृषि मंत्री को मिली गोली मारने की धमकी, केस दर्ज कर जांच में जुटी पुलिस

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल को गोली मारने की धमकी देने के आरोप में मामला दर्ज हुआ है। धमकी...

हरियाणा में किसानों को सिंचाई में नहीं आएगी समस्या, 50 हजार किसानों को सोलर पंप कनेक्शन देगी सरकार

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा के बिजली, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री रणजीत सिंह ने कहा बिजली से सोलर ऊर्जा में स्थानातंरित होना एक अच्छा...