22.2 C
Haryana
Wednesday, November 25, 2020

हरियाणा लोकसेवा आयोग के चेयरमैन बने आलोक वर्मा, छह साल रहेंगे पद पर

Must read

किसान आंदोलन: हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, पंजाब नहीं जाएगी Haryana Roadways की बसें

Yuva Haryana, 25 November, 2020 हरियाणा और पंजाब में किसान आंदोलन के मद्देनजर अब सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने हरियाणा रोडवेज की...

हरियाणा में मौसम विभाग का बुलेटिन जारी, 30 नवंबर तक मौसम रहेगा परिवर्तनशील

Yuva Haryana, 25 November, 2020 मौसम पूर्वानुमान आज 25 नवम्बर रात्रि को कहीं कहीं छिटपुट बूंदाबांदी परन्तु कल 26 नवम्बर दोपहर के बाद पश्चिमीविक्षोभ का प्रभाव...

कोरोना को लेकर सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, Containment Zone में बढ़ेगी सख्ती, जानिए नए नियम

Yuva Haryana, 25 November, 2020 कोरोना के कई राज्यों में तेजी से बढ़ते मामलों के बीच केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को कंटेनमेंट, सर्विलांस, सतर्कता...

Haryana Police ने किया वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

Yuva Haryana, 25 November, 2020 हरियाणा पुलिस ने वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। बता दें कि यह गिरोह...

Share this News
58Shares

Yuva Haryana News

Chandigarh, 23 Oct, 2020

आज Haryana Public Service Commission के नए चेयरमैन के रूप में आलोक वर्मा ने मुख्यमंत्री खट्टर की मौजूदगी में पद एवं गोपनियता की शपथ ली। राजभवन में हुए शपथ समारोह में राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने आलोक वर्मा को पद एवं गोपनियता की शपथ दिलवाई।

आइएफएस अधिकारी आलोक वर्मा से पहले रंजीत कुमार पचनंदा एचपीएससी के चेयरमैन थे। वीरवार को वो पद से सेवानिवृत्त हो गए थे। वर्मा की आइएफएस में अभी पूरी चार वर्ष की सेवा शेष है, इसलिए उन्होंने केंद्र सरकार से स्वैच्छिक रिटायरमेंट मांगी है। आपको बता दें कि एचपीएससी चेयरमैन और सदस्यों का कार्यकाल छह वर्षों या फिर 62 साल की उम्र तक होता है।

1989 बैच के हरियाणा काडर के आइएफएस (भारतीय वन सेवा) के अधिकारी आलोक वर्मा को राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य राजभवन में आयोजित पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। 24 अक्टूबर 1964 को जन्मे वर्मा अभी 56 वर्ष के हैं। ऐसे में वह पूरे छह साल तक अर्थात 23 अक्टूबर 2024 तक सेवाएं दे सकेंगे। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के एडवोकेट हेमंत कुमार ने बताया एचपीएससी के चेयरमैन का वेतन प्रदेश के मुख्य सचिव के समान दो लाख 25 हजार रुपये प्रतिमाह निश्चित है।

आयोग के वर्तमान छह सदस्यों का वेतन प्रदेश सरकार के प्रधान सचिव के वेतनमान में है जो एक लाख 82 हजार 200 रुपये से लेकर दो लाख 24 हजार 100 रुपये के बीच है। हेमंत ने बताया कि 17 दिसंबर 2018 को नोटिफाई हरियाणा लोक सेवा आयोग (सेवा की शर्र्तें) विनियमन में नियुक्ति के समय ली जाने वाली निष्ठा, पद और गोपनीयता की शपथ के प्रारूप में केवल आयोग के सदस्यों का ही उल्लेख है। उसमें चेयरमैन शब्द ही नहीं है।

उन्‍होंने बताया कि भारतीय संविधान और सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ के फैसले के अनुसार लोक सेवा आयोग के चेयरमैन और सदस्य का पद अलग-अलग होता है। इसलिए प्रदेश सरकार को शपथ के प्रारूप में राज्य लोक सेवा आयोग के चेयरमैन और सदस्यों का अलग-अलग उल्लेख करना चाहिए।


Share this News
58Shares

More articles

Latest article

किसान आंदोलन: हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, पंजाब नहीं जाएगी Haryana Roadways की बसें

Yuva Haryana, 25 November, 2020 हरियाणा और पंजाब में किसान आंदोलन के मद्देनजर अब सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने हरियाणा रोडवेज की...

हरियाणा में मौसम विभाग का बुलेटिन जारी, 30 नवंबर तक मौसम रहेगा परिवर्तनशील

Yuva Haryana, 25 November, 2020 मौसम पूर्वानुमान आज 25 नवम्बर रात्रि को कहीं कहीं छिटपुट बूंदाबांदी परन्तु कल 26 नवम्बर दोपहर के बाद पश्चिमीविक्षोभ का प्रभाव...

कोरोना को लेकर सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, Containment Zone में बढ़ेगी सख्ती, जानिए नए नियम

Yuva Haryana, 25 November, 2020 कोरोना के कई राज्यों में तेजी से बढ़ते मामलों के बीच केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को कंटेनमेंट, सर्विलांस, सतर्कता...

Haryana Police ने किया वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

Yuva Haryana, 25 November, 2020 हरियाणा पुलिस ने वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। बता दें कि यह गिरोह...

सोना फिर हो सकता है 45 हजारी, जानिए क्या है वजह

Yuva Haryana, 25 November, 2020 अगर आप भी दिवाली पर सोने की खरीदारी नहीं कर पाएं है तो आपके पास अभी सुनहरा मौका है सोने...