Breaking Uncategorized चर्चा में देश बड़ी ख़बरें हरियाणा हरियाणा विशेष

हरियाणा की तीन बेटियों के पोलैंड में चले मुक्के, हरियाणा में हो रहे चर्चे

Yuva Haryana, Rohtak

एक ओर दुनिया में कोरोना महामारी का दौर चल रहा है, वहीं दूसरी ओर हरियाणा की शान बढ़ाने वाली खबरें सामने आ रही है। पोलैंड में आयोजित युवा पुरुष और महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में हरियाणा की तीन बेटियों ने गोल्ड मेडल देश को दिए हैं, जिससे पूरा प्रदेश उन पर गर्व कर रहा है। एक ओर बेटियां खेल में मुक्के बरसा रही है, वहीं दूसरी ओर परिजन और स्वजन खुशियां मना रहे हैं।

हरियाणा की इन बेटियों ने फिल्मी जगत के सितारों को भी अपना मरिद बना लिया है। बॉलीवुड अभिनेता धर्मेंद्र के अलावा फरहान अख्तर, रणदीप हुड्डा, संग्राम सिंह इन बेटियों को गोल्ड मेडल जीतने की खुशी जाहिर करते हुए ट्विट के माध्यम से हौसला बढ़ाया है। तीनों खिलाड़ी हरियाणा के रोहतक से गीतिका, हिसार से पूनम और पानीपत से विंका है। जिनका डंका आज विदेशों में गुंज रहा है।

हरियाणा के रोहतक में गांव रिठाल की रहने वाली गीतिका नरवाल किसान परिवार से संबंध रखती है। गीतिका के अलावा दो बहनें और एक भाई है। मां सुमन और पिता संदर सिंह खेती बाड़ी करते हैं। जिससे इनके परिवार का गुजारा होता है। गीतिका ने वर्ष 2012 में भीम अकादमी से बॉक्सिंग सीखना शुरू किया था।

जिसके बाद वह कुछ ही समय में अच्छा खेलने लगी थी। दो दिन पहले गीतिका ने सिल्वर मेडल हासिल किया था। जिसके बाद उन्होंने घर पर फोन कर खुशी जताई थी। तब मां ने कहा था कि बेटी गोल्ड मेडल ही लेकर आना। गीतिका ने कहा था कि मां मैं आपको निराश नहीं करूंगी और देश के लिए गोल्ड मेडल जीतकर ही वापस आंउगी।

आप मेरी लिए पसंद का दही-चूरमा तैयार रखना। कोच सुनील फौगाट और भीम फौगाट ने कहा कि गीतिका चैंपियनशिप में आक्रमक होकर खेली और सभी मुकाबलें एकतरफा जीते हैं। गीतिका ने 48 किग्रा पोलैंड की नतालिया डोमिनिका को एकतरफा अंदाज में 5-0 से शिकस्त देकर स्वर्ण पदक जीता।

वहीं हिसार के गांव बुड़ाक की रहने वाली पूनम पूनियां ने कोच को दो दिन पहले वादा किया था कि वह गोल्ड मेडल जीतकर ही आएगी। वीरवार को उसने वादा पूरा कर दिया। पूनम के घर में खुशी का माहौल है। पिता ओमप्रकाश पूनिया छोटे से किसान है। मां कौशल्य घर के काम देखती है। 2014 में पूनम ने बॉक्सिंग खेलना शुरू किया।  बड़ी बहन सोनू और छोटा भाई दीपक है। कोच महेंद्र ढाका से खेल की बारीकियां सीखने के बाद पूनम ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। मंगोलिया में हुई एशियन यूथ चैंपियनशिप में भी पूनम ने गोल्ड जीता था। इंडिया की पहली प्रोफेशनल बिग बाउट लीग की चैंपियन टीम अडानी की जीत में अहम योगदान पूनम का रहा था। पूनम ने 57 किग्रा वर्ग के फाइनल में स्टील्नी ग्रॉसी को 5-0 से करारी शिकस्त दी।

ये भी पढ़िये >>

HSSC ने Auction Recorder की भर्ती के लिए जारी किया नोटिस

Yuva Haryana

हरियाणा में IAS और HCS अफसरों के तबादले, देखें आदेश

Yuva Haryana

गृहमंत्री अनिल विज के पास पहुंची एक महिला, बोली- मैंने अपने पति को मारा, मुझे दो फांसी

Yuva Haryana

राजीव जैन को मुख्यमंत्री का मीडिया सलाहकार बनाने की तैयारी, कविता जैन से लिया गया जनसंपर्क विभाग

admin