Breaking चर्चा में बड़ी ख़बरें युवा रोजगार हरियाणा हरियाणा विशेष

HTET परीक्षार्थियों को बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन का आखिरी मौका, जानें कब तक करवा सकेंगे वेरीफिकेशन ?

Yuva Haryana, Bhiwani

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड, भिवानी द्वारा हरियाणा अध्यापक पात्रता (एचटेट) परीक्षा-2020 के परीक्षार्थियों के हितों को ध्यान में रखते हुए आई.आर.आई.एस. बायोमैट्रिक वैरीफिकेशन प्रक्रिया पूर्ण करने का अंतिम अवसर प्रदान किया जा रहा है।

वहीं अनुपस्थित रहे परीक्षार्थी 12 अप्रैल से 16 अप्रैल, 2021 तक प्रात: 09:00 बजे से सांय 05:00 बजे तक बोर्ड मुख्यालय, भिवानी में उपस्थित होकर अपनी आई.आर.आई.एस. बायोमैट्रिक वैरीफिकेशन प्रक्रिया पूर्ण कर सकते हैं।

इस बारे में जानकारी देते हुए बोर्ड के प्रवक्ता ने बताया कि हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा-2020 का संचालन 2 व 3 जनवरी, 2021 को करवाया गया था।

इस परीक्षा का परिणाम घोषित होने से पूर्व परीक्षार्थियों को 18 जनवरी से 21 जनवरी तथा परिणाम घोषित होने उपरान्त 9 फरवरी से 12 फरवरी, 2021 तक आई.आर.आई.एस. बायोमैट्रिक वैरीफिकेशन प्रक्रिया पूर्ण करने का अवसर प्रदान किया गया था।

बार-बार बुलाने पर भी कुछ परीक्षार्थियों ने निर्धारित तिथि तक अपनी आई.आर.आई.एस. बायोमैट्रिक वैरीफिकेशन प्रक्रिया पूर्ण नहीं की थी, जिस कारण ऐसे परीक्षार्थियों का परिणाम नहीं निकाला जा सका है।

उन्होंने आगे बताया कि वेरिफिकेशन के लिए परीक्षार्थी द्वारा अपना मूल पहचान पत्र एवं मूल प्रवेश पत्र(एडमिट कार्ड) लेकर आना अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि जिन परीक्षार्थियों की आई.आर.आई.एस. बायोमैट्रिक वैरीफिकेशन होनी है, उनकी सूची बोर्ड की अधिकारिक वेबसाइट www.bseh.org.in पर अपलोड कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि इन परीक्षार्थियों को इनके पंजीकृत मोबाईल नम्बर पर भी संदेश भेजे गए हैं। बोर्ड वेबसाइट पर उपलब्ध सूची में से जो परीक्षार्थी इन तिथियों में यह प्रक्रिया पूर्ण नहीं करते हैं, उनका परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा।

ये भी पढ़िये >>

हरियाणा में आज मिले कोरोना के 490 पॉजिटिव केस, 188 पर पहुंची मृतकों की संख्या

Yuva Haryana

करनाल में कोरोना का पहला पॉजिटिव मरीज आया सामने, चंडीगढ़ रेफर

Yuva Haryana

प्रेमी संग कार में देखा बहन को, तो भाई ने साथियों संग मिलकर बेरहमी से कर दी युवक की हत्या

Yuva Haryana

कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर किसानों ने जताई असहमति, जानें वजह ?

Yuva Haryana