Home Breaking महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में पीएचडी की छात्रा ने एचओडी पर लगाए यौन शोषण के गंभीर आरोप

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में पीएचडी की छात्रा ने एचओडी पर लगाए यौन शोषण के गंभीर आरोप

0
12Shares

Yuva Haryana, Chandigarh

रोहतक स्थित महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) के फिजिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट की पीएचडी शोधार्थी व गेस्ट फैकल्टी ने हेड ऑफ डिपार्टमेंट (एचओडी) पर यौन शोषण करने का गंभीर आरोप लगाया है।

शोधार्थी ने विवि के अंदर प्रवेश नहीं करने देने पर गेट पर हंगामा भी मचाया। दूसरी और एचओडी ने शोधार्थी पर ही उनसे व विभाग की महिला स्वीपर से गाली-गलौज करने व जबरदस्ती कार्यालय में घुसने की शिकायत पुलिस में दी है। एचओडी 29 जून को विवि प्रबंधन को भी शोधार्थी के खिलाफ कार्रवाई के लिए शिकायत कर चुके हैं।

शोधार्थी छात्रा विवि के गेट नंबर तीन पर पहुंची तो सुरक्षा कर्मियों ने उसे अंदर जाने से रोक दिया गया। शोधार्थी का कहना है कि उसे पिछले चार दिन से गेट से ही यह कहकर लौटा दिया जाता है कि उसकी एंट्री बैन की गई है।

ऐसा करने पर छात्र एकता मंच के सदस्यों के साथ शोधार्थी विवि के गेट नंबर तीन पर ही धरना देकर बैठ गई। काफी देर तक प्रवेश को लेकर शोधार्थी ने हंगामा किया। इसके बाद पुलिस आई व उसे प्रवेश कराया।

आरोप लगाने वाली शोधार्थी ने कहा ”पीएचडी में एडमिशन के दौरान ही एचओडी ने अभद्रता की थी। पीएचडी के साथ ही विभाग में ही बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर (गेस्ट फैकल्टी) सेवाएं दे रही हूं। वेतन भी पूरा नहीं दिया जा रहा। क्लास के बीच में ही कई बार एचओडी आकर अभद्रता करते हैं। एचओडी के शारीरिक शोषण के इरादों को ठुकराने के बाद से ही वह इस तरह की हरकत कर रहे हैं। एमडीयू प्रशासन को भी लिखित में उनके खिलाफ शिकायत दे चुकी हूं। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। एचओडी अब गुंडागर्दी पर उतर आएं हैं। विवि में प्रवेश पर रोक लगवा दी। महिला सुरक्षाकर्मियों द्वारा मारपीट कराई गई।

एमडीयू के फिजिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट के विभागाध्यक्ष,प्रो. आरपी गर्ग ने कहा ”शोधार्थी का पीएचडी रजिस्ट्रेशन अवैध है। विवि के साथ ही पुलिस भी जांच कर रही है। 29 जून को विभाग में यूनिवर्सिटी सिक्योरिटी के कंट्रोलर, विभाग के क्लर्क और महिला स्वीपर की मौजूदगी में पीएचडी सेमिनार कराने और सेलरी को लेकर अभद्र व्यवहार किया था। शोधार्थी ने धमकी दी कि ऐसा न करने पर उनका नाम लिखकर आत्महत्या कर लेगी। इसके बाद विवि प्रशासन को लिखित में शिकायत देकर जांच होने तक एचओडी कार्यालय में शोधार्थी के प्रवेश पर रोक लगाने की मांग की थी। साथ ही वर्किंग आवर्स में एक महिला सुरक्षाकर्मी तैनात करने का भी आग्रह किया था।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पुलिस विभाग में बड़े स्तर पर कर्मचारियों के तबादले, देखिए पूरी लिस्ट

Yuva Haryana News, Charkhi Dadri, 14 Aug. 2020 दादरी ज…