Home Breaking हरियाणा में बाकी कक्षाओं के साथ अब फाइनल ईयर और कम्पार्टमेंट की परीक्षाएं भी रद्द, इनसो ने किया स्वागत

हरियाणा में बाकी कक्षाओं के साथ अब फाइनल ईयर और कम्पार्टमेंट की परीक्षाएं भी रद्द, इनसो ने किया स्वागत

0
76Shares

12 जून के अपने आदेश को संशोधित करते हुए हरियाणा के उच्चतर शिक्षा विभाग ने अब कॉलेज और यूनिवर्सिटी की सभी कक्षाओं की परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। पहले आदेश आया था कि फाइनल और कम्पार्टमेंट की परीक्षाएं जुलाई में होगी जबकि अन्य कक्षाओं का मूल्यांकन पिछली लिखित परीक्षा और इंटरनल एसेसमेंट के आधार पर होगा लेकिन अब सभी कक्षाओं की सभी परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं।

Yuva Haryana News, Chandigarh, 23 June 2020

मंगलवार शाम आए कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं के संदर्भ में शिक्षा विभाग के नए आदेश का छात्र संगठन इनसो ने स्वागत किया है और इसे प्रदेश के छात्रों की जीत बताया है। इंडियन नेशनल स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने कहा कि उनके पास राज्य भर से युवाओं की मांग आ रही थी कि दूसरे राज्यों के छात्रों की तरह उन्हें भी फाइनल ईयर और कम्पार्टमेंट की परीक्षाओं से राहत दिलवाई जाए और इसीलिए उन्होंने दो दिन पहले महामहिम राज्यपाल, सभी उपकुलपति और शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर इस बारे में मांग भेजी थी जिसे स्वीकार कर लिया गया है।

दिग्विजय चौटाला ने बताया कि हरियाणा के शिक्षा विभाग ने 12 जून को आदेश जारी किया था कि फाइनल ईयर और कम्पार्टमेंट को छोड़कर अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं आयोजित नहीं की जाएगी लेकिन अब संशोधित आदेश में फाइनल ईयर और कम्पार्टमेंट के छात्रों को भी परीक्षाओं से छूट दे दी गई है। दूसरे राज्यों के छात्र जो हरियाणा में पढ़ते हैं, उन्हें पहले ही फाइनल और कम्पार्टमेंट की परीक्षाओं से छूट दे दी गई थी। इससे हरियाणा के छात्र खुद के साथ अन्याय महसूस कर रहे थे।

 

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि विश्वव्यापी कोरोना संकट की वजह से परिस्थितियों को नए नजरिये से देखने की जरूरत है और इसी वजह से ये जरूरी था कि सभी परीक्षाएं रद्द कर दी जाए और मूल्यांकन के लिए वैकल्पिक तरीकों का इस्तेमाल किया जाए। दिग्विजय ने एक वीडियों संदेश जारी कर इस फैसले के लिए राज्यपाल, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री और सभी उपकुलपतियों का धन्यवाद किया।

 

इनसो के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप देसवाल ने भी राज्य सरकार के इस फैसले का स्वागत किया और कहा कि ये छात्रों की भावनाओं की जीत है। प्रदीप ने बताया कि इनसो से जुड़े छात्रों ने हरियाणा के सभी जिलों में उपायुक्त के माध्यम से इस बारे में मांगपत्र सौंपा था और राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस मांग को राज्यपाल के समक्ष उठाया था जिसकी बदौलत सरकार ने इस बात की आवश्यकता को समझा और सभी छात्रों को परीक्षाओं से राहत दी। प्रदीप देसवाल ने कहा कि अब छात्र निश्चिंत होकर आगामी कक्षा में दाखिले या नौकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकेंगे।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पुलिस विभाग में बड़े स्तर पर कर्मचारियों के तबादले, देखिए पूरी लिस्ट

Yuva Haryana News, Charkhi Dadri, 14 Aug. 2020 दादरी ज…