21.2 C
Haryana
Tuesday, December 1, 2020

भ्रष्ट पुलिस वाले नहीं दिखा पाएंगे अब समाज को चेहरा, सोशल मीडिया और थाने में लगेगी फ़ोटो

Must read

केंद्रीय राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया के बिगड़े बोल, कहा- काले झंडे ही दिखाने थे तो कही और मर लेते

Yuva Haryana, 01 December, 2020 अंबाला में रेलवे अंडरब्रिज का शिलान्यास करने पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने आज किसानों को लेकर बड़ा विवादित...

किसान आंदोलन को लेकर Ajay Singh Chautala का बड़ा बयान, ट्वीट कर कही ये बात

Yuva Haryana, 01 December, 2020 पिछले 6 दिनों से लगातार चल रहा किसान आंदोलन को लेकर जेजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय सिंह चौटाला ने अपनी...

Share this News
0Shares

Yuva Haryana News

New Delhi, 17 Nov, 2020

भ्रष्ट पुलिस वालों को सबक सिखाने के लिए केंद्र सरकार ने एक अच्छी पहल की है। भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों को लेकर केंद्र सरकार बड़ा कदम उठाने जा रही है। जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार अब भ्रष्ट पुलिसकर्मियों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी करेगी। इतना ही नहीं भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों और पुलिस कर्मियों की फोटों उनके गुनाह के साथ थानों के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करने की बात कही है। सरकार ने यह कदम ‘पुलिस छवि और सार्वजनिक संपर्क’ के तहत उठाया है। इन भ्रष्ट पुलिसकर्मी की फोटो अधिकार सोशल मीडिया पर भी शेयर करेंगे।

केंद्र सरकार ने निर्देश दिया है कि और कहा है कि भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का प्रचार सोशल मीडिया पर किया जाएगा। जिन घटनाओं में वे शामिल थे, उनकी डिटेल्स के साथ पुलिस स्टेशनों में भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों की तस्वीरें लगाई जाएंगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने निर्देश में कहा है कि भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही को सोशल मीडिया पर उचित प्रचार मिलेगा, जिन घटनाओं में वे शामिल थे उन विवरणों के साथ पुलिस थानों में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की तस्वीरें प्रदर्शित की जाएंगी। सूत्रों के अनुसार यह निर्णय सिर्फ निचले स्तर के पुलिसकर्मियों तक सीमित नहीं रहेगा, भ्रष्ट वरिष्ठ भारतीय पुलिस सेवा आईपीएस अधिकारियों की तस्वीरों को भी प्रमुखता से प्रदर्शित किया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक भ्रष्ट पुलिस कर्मियों को पकड़ने के लिए पुलिस वालों को अपनी आंतरिक सतर्कता इकाई को मजबूत करना होगा। एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने कहा कि जन शक्ति की कमी, कर्तव्य की थकान और कर्तव्य से भागना पुलिसकर्मियों के लिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती हैं। सरकार ने सभी पुलिस प्रमुखों को सोशल मीडिया कंटेंट का विश्लेषण करने और पुलिस को लोंगो तक पहुंचने को बढ़ाने के लिए इन हाउस टीम बनाने के लिए कहा है।

निर्देश में कहा गया है कि हिंदी और अंग्रेजी के साथ स्थानीय भाषा का उपयोग सोशल मीडिया पर अधिक से अधिक पहुंच के लिए, सामग्री के प्रसार के लिए किया जाए। यह भी कहा गया है कि पुलिस की दक्षता को बढ़ाने के लिए छोटे वर्दीधारी पुलिस फूट गश्ती दल का इस्तेमाल किया जाए और पुलिस की छवि को सुधारने के लिए इनकी तस्वीरें और वीडियो का प्रसार किया जाए। निर्देश में कहा गया है कि पुलिस की संवेदनशीलता दिखाने वाले वीडियो और तस्वीरों को व्यापक रूप से सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा किया जाना चाहिए।

भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर लगाम लगाने लिए पुलिस बलों को अपनी आंतरिक सतर्कता इकाई को भी मजबूत करना होगा। हाल के दिनों देश की पुलिसिया तंत्र पर कई तरह का सवाल उठता रहा है। अपराधी और पुलिस की मिली भगत के कई तरह के आरोप लगते रहे हैं। अब जब सरकार ने भ्रष्ट पुलिसकर्मी को लेकर नया फरमान जारी किया है तो शायद इससे पुलिसिया तंत्र को मजबूत किया जा सकता है।

 


Share this News
0Shares

More articles

Latest article

केंद्रीय राज्यमंत्री रतनलाल कटारिया के बिगड़े बोल, कहा- काले झंडे ही दिखाने थे तो कही और मर लेते

Yuva Haryana, 01 December, 2020 अंबाला में रेलवे अंडरब्रिज का शिलान्यास करने पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया ने आज किसानों को लेकर बड़ा विवादित...

किसान आंदोलन को लेकर Ajay Singh Chautala का बड़ा बयान, ट्वीट कर कही ये बात

Yuva Haryana, 01 December, 2020 पिछले 6 दिनों से लगातार चल रहा किसान आंदोलन को लेकर जेजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय सिंह चौटाला ने अपनी...

JJP ने इस हलका प्रधान को किया निष्कासित, जानिए वजह ?

Yuva Haryana, 01 December, 2020 हरियाणा में जननायक जनता पार्टी ने एक हलका प्रधान को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। आज पार्टी की तरफ...