Home Breaking तीन जिलों का मोस्टवांटेड अपराधी गिरफ्तार, अपहरण, हत्या समेत 25 मामले थे दर्ज

तीन जिलों का मोस्टवांटेड अपराधी गिरफ्तार, अपहरण, हत्या समेत 25 मामले थे दर्ज

0
0Shares

Yuva Haryana, Kaithal

पुलिस ने तीन जिलों के मोस्टवांटेड अपराधी को पकड़ने में सफलता प्राप्त की है। बहुचर्चित विशु हत्याकांड के दूसरे मुख्य आरोपित राजेंद्र उर्फ जिंदा को वारदात के करीब छह माह बाद सीआइए वन ने जिला कैथल के चीका के गांव टटियाना से गिरफ्तार कर लिया है जबकि उसके साथी रविंद्र उर्फ बिंद्र ने अदालत में सरेंडर कर दिया।

जिंदा को अदालत में पेश कर पुलिस ने पांच दिन के रिमांड पर लिया है जबकि बिंद्र को प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर बुधवार को अदालत में पेश किया जाएगा। गिरफ्तारी के वक्त पुलिस ने जिंदा से एक कट्टा व तीन कारतूस भी बरामद किए है।

निसिंग के गांव गोंदर वासी अपराधी जिंदा पर करनाल, कुरुक्षेत्र व कैथल में लूट, हत्या, डकैती, छीनाझपटी आदि के करीब 25 मामले दर्ज हैं और तीनों जिलों की पुलिस को उसकी तलाश थी। मोस्टवांटेड घोषित हो चुके जिंदा पर पांच हजार रुपये का इनाम था। वहीं गोंदर गांव के ही बिंद्र पर भी तीनों जिलों में 10 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। उसकी भी तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी।

एसपी एसएव भौरिया के मुताबिक प्लाइवुड कारोबारी वार्ड नौ निसिंग वासी दर्शन सिंह का 30 वर्षीय बेटा विश्व भारती उर्फ विशु 29 दिसंबर को दुकान पर बैठा था। आरोपित बदमाश चीका से लूटी गई एक गाड़ी लेकर वहां पहुंचे और दुकान से कुछ दूर गाड़ी खड़ी कर दी। आरोपित बिंद्र विशु को दुकान से बुलाकर ले गया और फिर सभी ने मिलकर उसका अपहरण कर लिया। वे उसे कई घंटे तक गाड़ी में ही घुमाते रहे और फिरौती की रकम रखने के लिए तीन बार जगह बदली।

बाद में जब विशु के स्वजनों ने ढाई लाख रुपये बताई जगह पर रख दिए तो वे विशु के साथ पैसे लेकर फरार हो गए। पंजाब के पातड़ा के पास घग्गर नहर में विशु का शव फेंक दिया था।

वारदात के तीन दिन बाद ही पुलिस द्वारा काबू किए गए मुख्य आरोपित अमनदीप उर्फ बावा निसिंग का रहने वाला है जबकि जिंदा व बिंद्र निसिंग के ही गांव गोंदर के रहने वाले है। तीनों आपस में दोस्त है और वे विशु को भी पहले से ही जानते थे।

आरोपितों ने माना कि पहले वे फिरौती की रकम हासिल करना चाहते थे, लेकिन बाद में मामले का भेद खुलने के डर के चलते उसकी हत्या को अंजाम दिया। पूरे मामले की जांच सीआइए वन द्वारा की गई। मामले में गोंदर के ही रोहित व गांव डोडकारसा वासी कमल का नाम भी सामने आया था।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

बहादुरगढ़ में एक ही परिवार के चार लोग कोरोना पॉजिटिव, गुरुग्राम में इंजिनियर है संक्रमित सदस्य

Pardeep Dhankar, Yuva Haryana, Bahadurgarh बहादुरè…