23.2 C
Haryana
Friday, December 4, 2020

Tik Tok पर युवक ने बनाई थी रागनी लगाकर वीडियो, FIR हुई दर्ज तो हाईकोर्ट ने जताई हैरानी

Must read

कोरोनाकाल में हुई अनोखी शादी, दूल्हा-दुल्हन ने किया 2 गज दूरी का पालन

Yuva Haryana, 04 December, 2020 गर्मियों में लोगों ने शादियां यह सोच कर टाल दी कि शायद सर्दियों तक कोरोना खत्म हो जाएगा। लेकिन अब...

किसान आंदोलन में एक और किसान की मौत, अब तक छह अन्नदाताओं ने गंवाई जान

Yuva Haryana, 04 December, 2020 केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों का विरोध लगातार जारी है। वहीं किसान आंदोलन शामिल 55 वर्षीय  किसान...

हरियाणा कांग्रेस ने नगर निगम चुनाव के लिए इन नेताओं को सौंपी जिम्मेदारी, देखें लिस्ट

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा में कांग्रेस पार्टी ने नगर निगम चुनाव के लिए कमर कस ली है। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने गुरुवार...

सरकार और किसानों के बीच फिर बिना नतीजे के खत्म हुई बैठक, 5 दिसंबर को फिर होगी बैठक

Yuva Haryana, 03 December, 2020 नए कृषि कानून के विरोध में देश की राजधानी दिल्ली में किसानों का प्रदर्शन जारी है। किसान संगठनों की मांग...

Share this News
39Shares

Yuva Haryana

Chandigarh, 17 Nov, 2020

हिसार निवासी एक युवक पर एससी/ एसटी एक्ट में एफआईआर दर्ज की गई थी जिसमें टिक टॉक वीडियो के बैकग्राउंड में पांच दशक पुरानी रागनी लगाई गई थी। अब इस पर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने हैरानी जताई हुई है कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि ऐसे कैसे एक पांच दशक पुरानी रागनी पर नाचने से किसी जाति की भावनाएं आहत हो सकती हैं। इसके बाद हाईकोर्ट ने याची को जमानत का लाभ देते हुए सुनवाई स्थगित कर दी।

पंडित जगदीश चंदर वत्स की एक रागनी लगभग पांच दशक पहले लिखी गई थी। उस रागनी को बैक ग्राउंड में लगाकर मंदीप कुमार ने टिकटॉक वीडियो बनाया था। इस कारण उसके खिलाफ 15 जून, 2020 को एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।

मंदीप ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट में याचिका दायर की। सुनवाई के दौरान जस्टिस फतेहदीप सिंह ने कहा कि पांच दशक पूर्व तैयार एक रागनी की धुन पर केवल नृत्य करने और एक वीडियो तैयार करने से जाति विशेष की भावनाएं कैसे आहत हो सकती हैं। यह बहस का विषय है, जिस पर केवल मुकदमे के निपटारे पर ही निर्णय लिया जा सकता है।

याची पर आरोप है कि उसने पंडित जगदीश चंदर वत्स की एक रागनी का टिकटॉक वीडियो बनाया था और उसमें डांस किया था। शिकायतकर्ता ने दावा किया था कि रागनी से अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं।

याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि याचिकाकर्ता ने केवल रागनी की धुन पर नृत्य किया है। वह न तो लेखक है और न ही रचनाकार है। उससे कुछ भी बरामद नहीं किया जाना है। हाईकोर्ट ने कहा कि एससी/एसटी एक्ट की तहत आरोप बाद में तय होने हैं। ऐसे में अभी याचिकाकर्ता को सलाखों के पीछे भेजना न्यायसंगत नहीं है और यह एक मजाक होगा।

कोर्ट ने याची को राहत देते हुए आदेश दिया कि गिरफ्तारी की स्थिति में, याचिकाकर्ता को जांच अधिकारी की संतुष्टि पर जमानत पर रिहा किया जाएगा। कोर्ट ने याची को आदेश दिया कि वह जांच में सहयोग करे व जब भी उसे बुलाया जाए, वह आए। इसके बाद चालान पेश होने के बाद याचिकाकर्ता को ट्रायल कोर्ट की संतुष्टि के बाद नियमित जमानत दी जाएगी।

सपना चौधरी भी फंसी थी कुछ इसी तरह
चार दशक पुरानी एक रागनी पर डांस करने के कारण हरियाणवी गायिका और डांसर सपना चौधरी को भी थानों व कोर्ट के चक्कर काटने पड़े थे। सपना पर 14 जुलाई, 2016 को एससी/एसटी के तहत गुरुग्राम के सेक्टर-29 पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था। जिला अदालत ने भी उनकी अग्रिम जमानत की मांग खारिज कर दी थी। बाद में मामला हाईकोर्ट पहुंचा व जांच के बाद पुलिस ने इस मामले में सपना को क्लीन चिट देते हुए मामला बंद कर दिया था।


Share this News
39Shares

More articles

Latest article

कोरोनाकाल में हुई अनोखी शादी, दूल्हा-दुल्हन ने किया 2 गज दूरी का पालन

Yuva Haryana, 04 December, 2020 गर्मियों में लोगों ने शादियां यह सोच कर टाल दी कि शायद सर्दियों तक कोरोना खत्म हो जाएगा। लेकिन अब...

किसान आंदोलन में एक और किसान की मौत, अब तक छह अन्नदाताओं ने गंवाई जान

Yuva Haryana, 04 December, 2020 केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों का विरोध लगातार जारी है। वहीं किसान आंदोलन शामिल 55 वर्षीय  किसान...

हरियाणा कांग्रेस ने नगर निगम चुनाव के लिए इन नेताओं को सौंपी जिम्मेदारी, देखें लिस्ट

Yuva Haryana, 04 December, 2020 हरियाणा में कांग्रेस पार्टी ने नगर निगम चुनाव के लिए कमर कस ली है। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने गुरुवार...

सरकार और किसानों के बीच फिर बिना नतीजे के खत्म हुई बैठक, 5 दिसंबर को फिर होगी बैठक

Yuva Haryana, 03 December, 2020 नए कृषि कानून के विरोध में देश की राजधानी दिल्ली में किसानों का प्रदर्शन जारी है। किसान संगठनों की मांग...

हरियाणा में साल 2021 की सरकारी छुट्टियों का कलैंडर जारी, जानिए कब-कब रहेगा अवकाश ?

Yuva Haryana, 03 December, 2020 हरियाणा सरकार की तरफ से साल 2021 में सरकारी छुट्टियों को लेकर सरकारी कैलेंडर जारी किया गया है। बता दें...