Home Breaking एनएच-44 पर दुर्घटनाओं से बचने के लिए होगा तीन बस स्टैंड का निर्माण

एनएच-44 पर दुर्घटनाओं से बचने के लिए होगा तीन बस स्टैंड का निर्माण

0
0Shares

Karnal, Yuva Haryana
24 June 2019

यात्रियों की सुविधा और राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर दुर्घटनाओं से बचने के लिए, जिला प्रशासन प्रमुख राउंडअबाउट पर तीन बस स्टैंड का निर्माण करने जा रहा है। यह ले-बाय बस बिना यातायात को प्रभावित किए सड़क के किनारे एक सुरक्षित जगह रूकेगी।

हरअसल, 11 अप्रैल को बस में सवार होने के दौरान ITI के एक छात्र की मौत हो गई थी। जिसके बाद से ही बस ले-बाय का निर्माण करने का निर्णय लिया गया। उस घटना के दौरान सभी छात्र इतने गुस्से में आ गए कि उन्होंने पुलिस वाहनों पर पथराव कर दिया। जिसके बाद पुलिस को स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लाठीचार्ज का भी सहारा लेना पड़ा।

अतिरिक्त उपायुक्त (एडीसी) अनीश कुमार यादव ने कहा कि “हमने तीन बस ले-बाय बनाने की योजना बनाई है। यह बस एक-एक आईटीआई गोल चक्कर, निर्मल कुटिया गोल चक्कर और सेक्टर -14 सरकारी कॉलेज गोल चक्कर पर रूकेगी। ताकि यात्री बिना परेशानी के बसों में सवार हो सकें।

साथ ही उन्होंने कहा कि नगर निगम और हरियाणा शहर विकास प्रधान (एचएसवीपी) सहित संबंधित विभागों से परियोजना की व्यवहार्यता की जांच करने के लिए कहा गया है। सूत्रों का कहना है कि एनएच -44 पर हरियाणा रोडवेज और अन्य राज्य रोडवेज की 300 से अधिक बसें प्रतिदिन चलती हैं। यात्रियों, विशेष रूप से छात्रों, को समस्याओं का सामना करना पड़ता है और यहां तक कि बसों में सवार होने के लिए बसों का पीछा करना पड़ता है क्योंकि अधिकांश चालक जल्द से जल्द स्पॉट पर रुकते नहीं हैं।

आईटीआई और गवर्नमेंट कॉलेज, सेक्टर 14 के बंद होने के घंटों के दौरान स्थिति और खराब हो जाती है, क्योंकि छात्र बसों में सवार होते हैं। इस बारे में बात करते हुए एक छात्र अमित कुमार ने कहा कि बस ले-बाय के निर्माण का कदम छात्रों के लिए बहुत बड़ी राहत होगी। उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने दिल्ली की तरफ से आने वाले यात्रियों के लिए ताऊ देवीलाल चौक पर स्लिप रोड बनाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया है।

Load More Related Articles
Load More By Yuva Haryana
Load More In Breaking

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

हरियाणा में आज कोरोना के 188 नए मामले आए सामने, देखिए मेडिकल बुलेटिन

Yuva Haryana, Chandigarh  ये भी पढ़ि&…